तालिबान ने अफगान महिला अधिकारों पर जारी किए नए फरमान, अमेरिका के विशेष दूत ने किया स्वागत

punjabkesari.in Sunday, Dec 05, 2021 - 05:08 PM (IST)

काबुलः तालिबान के सर्वोच्च नेता हैबतुल्लाह अखुंदजादा ने महिलाओं के अधिकारों को लेकर एक फरमान जारी किया है। शुक्रवार को जारी किए गए खास फरमान में इस्लामिक अमीरात में महिलाओं के अधिकारों को लेकर जानकारी दी गई है  जिन्हें सख्ती से लागू किया जाएगा। इस फरमान में इस्लामिक अमीरात में महिलाओं के अधिकारों को लेकर जानकारी दी गई है। साथ ही संबंधित अधिकारियों को इन अधिकारों की रक्षा के लिए कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक अफगान सरकार के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने एक बयान में कहा है कि इस्लामिक अमीरात का नेतृत्व सभी संबंधित संगठनों, उलेमा-ए करम और बुजुर्गों को महिलाओं के अधिकारों को लागू करने के लिए गंभीर कार्रवाई करने का निर्देश देता है। तालिबान ने सूचना और संस्कृति मंत्रालय को महिलाओं के अधिकारों के संबंध में लेख प्रकाशित करने का निर्देश दिया है।साथ ही फरमान को पूरी तरह से लागू करने के लिए भी कहा गया है।

 

ये हैं फरमान

  •  फरमान के मुताबिक शादी के लिए महिलाओं की सहमति जरूरी है।
  •  कोई भी महिला से जबरदस्ती या दबाव में शादी करने के लिए मजबूर नहीं कर सकता है।
  •  फरमान में साफ किया गया है कि महिला एक संपत्ति नहीं बल्कि स्वतंत्र इंसान है।
  • कोई भी उसे शांति समझौते या दुश्मनी खत्म करने के बदले किसी को नहीं दे सकता है।
  •  साथ ही कहा गया है कि कोई भी विधवा महिला से जबरदस्ती शादी नहीं कर सकता है फिर वो उसका रिश्तेदारों ही क्यों न हो।
  •  एक विधवा को शादी करने या अपना भविष्य चुनने का अधिकार है।
  •  विधवा अपने पति, बच्चों, पिता और रिश्तेदारों की संपत्ति में निश्चित हिस्से की हकदार  है और  कोई भी उससे ये अधिकार नहीं छीन सकता।
  •   एक से ज्यादा शादी करने वालों को सभी पत्नियों को शरिया कानून के अनुसार अधिकार देने और उनके बीच न्याय बनाए रखने के लिए बाध्य किया गया है।


अमेरिका के विशेष दूत  थॉमस वेस्ट ने तालिबान के इन फरमान का किया स्वागत
अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत थॉमस वेस्ट ने तालिबान के इन फरमान का स्वागत किया, लेकिन साथ ही कहा कि देश के सभी क्षेत्रों में महिलाओं के अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए बहुत कुछ करने की आवश्यकता है। वेस्ट सेन ने एक ट्वीट में कहा, "आज के फरमान का स्वागत है जो एक महिला के यह निर्धारित करने के अधिकार को मजबूत करता है कि वह किससे शादी करती है। साथ ही, स्कूलों, कार्यस्थलों, राजनीति और मीडिया सहित अफगान समाज के हर पहलू में महिलाओं के अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए और भी बहुत कुछ करने की जरूरत है।"  

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News