चीन ने बेशर्मी की सारी हदें की पार, ओलंपिक खिलाड़ियों के प्राइवेट पार्ट से लिए कोरोना टेस्ट के सैंपल !

punjabkesari.in Sunday, Jan 23, 2022 - 03:58 PM (IST)

बीजिंगः कोरोना महामारी के बीच चीन नई शर्मनाक करतूत सामने आई है जिसकी वजह से इसकी फिर से दुनिया में बेइज्जती हो रही है। चीन की राजधानी बीजिंग में 4 फरवरी से होने से पहले  कोरोना के मामले बढ़ने से ड्रैगन बौखला गया है । खबर है कि विंटर ओलंपिक से ठीक पहले चीन खिलाड़ियों के कोरोना टेस्ट के लिए उनके प्राइवेट पार्ट से सैंपल ले रहा है। दुनिया में कोरोना वायरस फैलाने के लिए चीन को जिम्मेदार बताया जा रहा है। शुरुआत से ही चीन के ऊपर ही इस वायरस का ठीकरा फोड़ा जा रहा है।  भले ही ये देश इस बात से सहमत न हो।  लेकिन चीन को ही इसके लिए जिम्मेदार बताया जाता रहा है। 

PunjabKesari

चीन में भी हाल के दिनों में कोरोना के मामलों में इजाफा हुआ है।  इस बीच दो हफ़्तों के अंदर इस देश में विंटर ओलंपिक होने हैं। इसे लेकर एक शर्मनाक खबर सामने आ रही है। खबर है कि बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक से पहले चीन कोरोना का टेस्ट करने के लिए खिलाड़ियों के प्राइवेट पार्ट से सैंपल ले रहा है।  पिछले साल भी चीन द्वारा एनल स्वैब टेस्ट करना विवादों में रहा था।  अब ओलंपिक का हिस्सा बनने आए खिलाडियों को इस विवादित टेस्ट से गुजरना पड़ रहा है।  चीन के मुताबिक  ये कोरोना को डिटेक्ट करने का सबसे सुरक्षित और सही तरीका है।

 PunjabKesari
कोरोना का एनल टेस्ट काफी विवादित है। इसमें सइंसान के प्राइवेट पार्ट के 5 सेंटीमीटर अंदर तक टेस्टिंग किट को घुसाया जाता है। इसके बाद इसे घुमाया जाता। जांच से पहले स्वाब किट को तोड़ दिया जाता है। पहले भी चीन से ऐसे टेस्ट की खबरें सामने आई थी। इसके बाद विवाद बढ़ता देख इसे रोक दिया गया था  लेकिन अब विंटर ओलंपिक से ठीक पहले एक बार फिर इसे अपनाया जा रहा है।

 PunjabKesari
बता दें कि  कोरोना ऐसा वायरस है जो बीते दो सालों से लोगों को तबाह किए हुए हैं।  वैक्सीन के बावजूद अभी भी इसका संक्रमण कम होने का नाम नहीं ले रहा। डेल्टा के बाद अब इसका ओमिक्रोन वेरिएंट लोगों को तबाह किए हुए है। इस बीच  चीन इस खेल की सुरक्षित मेजबानी कर दुनिया में अपनी धाक जमाने की तैयारी में है। चीन ने इन खेलों को सुरक्षित बनाने के लिए पूरे बीजिंग में लॉकडाउन लगा दिया है जिस कारण  लोग राशन तक लेने के लिए नहीं निकल पा रहे हैं।  ऐसे हालात में चीन द्वारा इस टेस्ट की खबरों ने फिर से उसकी बदनामी कर दी है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News