राहु के स्वाति नक्षत्र में आए सूर्य, जानें, किन राशियों के होंगे वारे-न्यारे

2020-10-28T05:16:37.557

 शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Sun in swati nakshatra: नवग्रहों में सबसे  प्रभावशाली माने जाने वाले ग्रह सूर्य इस समय  स्वाति नक्षत्र में आ गए हैं और 6 नवंबर तक इसी नक्षत्र में रहने वाले हैं । स्वाति नक्षत्र के स्वामी राहु है जिनके साथ सूर्य की दुश्मनी है।  शास्त्रों में सूर्य को आत्मा का कारक और जीवन में सकारात्मक एनर्जी का प्रतीक माना गया है। सूर्य को देवता का दर्जा भी दिया गया है। ज्योतिष शास्त्र व हमारी संस्कृति में सूर्य का राशि या नक्षत्र परिवर्तन करना एक महत्वपूर्ण घटना माना जाता है। सूर्य के राशि व नक्षत्र परिवर्तन से सभी राशियां भी प्रभावित होती हैं और देश पर भी इसका असर पड़ता है।

PunjabKesari Sun in swati nakshatra
सूर्या अब स्वाति नक्षत्र में गोचर कर रहे हैं। 6 नवंबर तक इसी नक्षत्र में रहने वाले हैं। हमारे आकाश मंडल में जो 27 नक्षत्र हैं जिन्हें ज्योतिष में मान्यता दी गई है , उनमें स्वाति नक्षत्र 15वां नक्षत्र है और इसके स्वामी राहु हैं। राहु के नक्षत्र में आकर सूर्या कभी भी कंफर्टेबल स्थिति में नहीं रहते और कई राशियों के लिए तनावपूर्ण स्थितियां भी बना देते हैं। इस बार भी सूर्य स्वाति नक्षत्र में आकर 6 राशियों की परेशानी बढ़ाने वाले हैं लेकिन पांच राशि वालों को अच्छा खासा लाभ भी देने वाले हैं। उनके स्वाति नक्षत्र में गोचर करने तक 6 नवंबर तक का समय ज्योतिष की दृष्टि से भी बहुत अहम रहने वाला है।

आपको यह जिज्ञासा होना स्वाभाविक ही है कि आखिर स्वाति नक्षत्र की खासियत क्या है और सूर्या के इस नक्षत्र में आने को इतना महत्वपूर्ण क्यों माना जा रहा है। स्वाति नक्षत्र हमारे सौरमंडल में मौजूद 15वां नक्षत्र है । इस नक्षत्र में पैदा हुए लोग किसी की अधीनता बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करते  और स्वतंत्र रूप से निर्णय लेते हैं। अपनी पावर, अपने रुतबे और अपनी पोस्ट यानी पद का उपयोग करने की क्षमता रखते हैं और राजनीतिक दांवपेच अच्छी तरह समझते हैं। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग सात्विक और तामसिक दोनों तरह के प्रवृत्ति वाले होते हैं।  इनका स्वभाव और आचरण स्वच्छ होता है। यह मोती के समान चमकते हैं।

सूर्य स्वाति नक्षत्र में आए हैं तो इसका देश, पर्यावरण और मौसम पर असर पड़ने वाला है। देश के कई हिस्सों में ठंड बढ़ने की संभावना है। सरहदों पर भी कुछ हलचल बढ़ेगी और व्यवस्था में भी काफी परिवर्तन देखने को मिलेंगे जो प्रशासनिक मोर्चे से लेकर आर्थिक मोर्चे तक अपना असर डालेंगे।  

PunjabKesari Sun in swati nakshatra

6 राशियों- मेष,  कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक और कुम्भ राशि वालों को खासतौर पर सतर्क रहना पड़ेगा। उनकी समस्याओं में इजाफा हो सकता है।  उनके बनते हुए कार्यों में कोई न कोई रुकावट पैदा हो सकती है।  स्वभाव चिड़चिड़ा हो सकता है। स्वभाव में उग्रता आ सकती है।

कुंभ राशि वालों की खास तौर पर मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इन्हें संभल कर रहना होगा। इनको स्वास्थ्य संबंधित दिक्कत भी आ सकती है। इन लोगों को उतावलेपन से बचना होगा और वाद-विवाद से भी दूर रहना होगा।

PunjabKesari Sun in swati nakshatra
जिन 5 राशि वालों के लिए सूर्य का मकर राशि में आना बहुत शानदार रहने वाला है, उनमें वृषभ राशि व मिथुन राशि वालों का आर्थिक पक्ष पहले से मजबूत होगा। कार्यक्षेत्र में तरक्की मिलेगी। समाज में रुतबा बढ़ेगा।

सिंह राशि वालों के लिए कार्यक्षेत्र में एक बड़ी कामयाबी इंतजार कर रही है।

धनु राशि के जातकों की भाग्य उन्नति तो होगी ही, आर्थिक पक्ष भी मजबूत होगा। कोई अच्छी खबर भी मिलेगी।

मकर राशि वालों के लिए सूर्य का स्वाति नक्षत्र में आना सामान्य रहने वाला है।

गुरमीत बेदी
gurmitbedi@gmail.com

PunjabKesari Sun in swati nakshatra


Niyati Bhandari

Related News