Govardhan Puja 2021: दीपावली से अगले ही दिन करें ये काम, भरे रहेंगे भंडार

10/28/2021 9:16:28 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Govardhan Puja 2021: हिंदू पंचांग के अनुसार दीपावली से अगले ही दिन गोवर्धन पूजा करने का विधान है और यह त्यौहार कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाया जाता है। इस वर्ष यह त्यौहार 5 नवंबर 2021 के दिन शुक्रवार को मनाया जाएगा। यह त्यौहार भगवान श्री कृष्ण द्वारा गोवर्धन पर्वत को अपने हाथ की सबसे छोटी अंगुली पर 7 दिनों तक धारण करने व देवताओं के राजा इंद्रदेव के वर्षा के प्रकोप से पूरे मथुरा वासियों व वन्य प्राणियों की रक्षा करने के स्मरण के संदर्भ में मनाया जाता है। गोवर्धन पूजा का समय प्रातः 06:35 से 10:42 तक है। इस दौरान सभी चौघड़िया के मुहूर्त शुभ है एवं बहुगुणा परिणाम प्रदान करने वाले हैं।

PunjabKesari Govardhan Puja

इस दिन भगवान श्री कृष्ण व गोवर्धन पर्वत की पूजा की जाती है। इस दिन घरों में खेत की मिट्टी या गाय के गोबर से घर के आंगन में गोवर्धन पर्वत के प्रतीकात्मक पर्वत बनाया जाता है एवं साथ में गाय, भैंस, खेत, खलिहान, बैल, खेत के औजार, चूल्हा इत्यादि सब कुछ गोबर से प्रतीक स्वरूप बनाए जाते हैं व सभी को दूध से स्नान करवाकर उसकी आराधना की जाती है।

PunjabKesari Govardhan Puja

घर की औरतें श्री कृष्ण जी के ही भजन इत्यादि गुणगान करती हैं एवं उस गोबर के प्रतीकात्मक पर्वत की घर के सभी सदस्य परिक्रमा करते हैं एवं इसी ही दिन भगवान श्री कृष्ण व गोवर्धन को 56 या 108 वस्तुओं का भोग लगाकर अर्पण करते हैं एवं बाद में प्रसाद स्वरूप स्वयं भी ग्रहण करते हैं एवं सभी मानवजन को भोजन प्रसाद के रूप में वितरित भी किया जाता है।

PunjabKesari Govardhan Puja

इस पूजा के जरिए खेती से जुड़ी सभी चीजों एवं जलवायु, प्राकृतिक संसाधनों की पूजा की जाती है इसलिए जितना संभव हो उतना बनाकर पूजा में शामिल किया जाता है। इस दिन यह सब करते समय मन में भाव रखा जाता है कि हे भगवान! श्रीकृष्ण जिस प्रकार अपने समस्त मथुरा वासियों व प्राणियों की इंद्र के प्रकोप से रक्षा की थी ठीक उसी प्रकार हे प्रभु! आप हमारे व पूरे कुटुंब की रक्षा करो व सभी प्रकार के सुखों को प्रदान करो तथा उनका भोग करने का आशीर्वाद भी प्रदान करें।

PunjabKesari Govardhan Puja

Sanjay Dara Singh
AstroGem Scientists
LLB., Graduate Gemologist GIA (Gemological Institute of America), Astrology, Numerology and Vastu (SSM).

PunjabKesari Govardhan Puja

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News