दुबई के इस मंदिर में सभी धर्मों के लोगों को आने की है अनुमति, बेहद खास है मंदिर

punjabkesari.in Thursday, Dec 01, 2022 - 03:54 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
जब भी बात मंदिर या किसी धार्मिक स्थान की होती है तो लगभग लोगों के जहन में सबसे पहला ख्याल भारत देश का आता है। इसका कारण ये है कि अन्य देशों की तुलना में भारत देश में अनगिनत मंदिर व तीर्थ स्थल हैं। अब आप में से बहुत से लोग यही सोच रहे होंगे कि यकीनन अब हम आपको भारत देश में स्थित किसी प्राचीन मंदिर के बारे में आपकी बताने जा रहे होंगे तो आपको बता दें आज हम आपको भारत देश के किसी प्राचीन मंदिर के बारे में नहीं बल्कि दुबई में स्थित एक हिंदू मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं। जो पिछले कुछ दिनों में काफी चर्चा में रहे थे। तो आइए जानते हैं क्या है दुबई के इस हिंदू मंदिर से जुड़ी जानकारी- 
PunjabKesari
बता दें इसी वर्ष सितंबर मास की शुरुआत में दुबई के जेबेल अली में वर्शिप विलेज में स्थित हिंदू मंदिर आगंतुकों के लिए खोला गया। हालांकि अधिकृत रूप से इस मंदिर को पांच अक्टूबर को खोला गया। बता दें दुबई के इस हिंदू मंदिर में सभी धर्मों के लोगों को आने की अनुमति है। गल्फ न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, श्रद्धालु पूजा कर सकेंगे जबिक दूसरे आगंतुकों को 16 देव प्रतिमाओं एवं भीतरी सज्जा देखने की अनुमति होगी। 
PunjabKesari

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं । अपनी जन्म तिथि अपने नाम , जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर वाट्स ऐप करें

PunjabKesari
प्राप्त खबरों के अनुसार एक सितंबर को मंदिर प्रबंधन द्वारा अपनी वेबसाइट के माध्यम से क्यूआर कोड आधारित प्रवेश का समय बुक कराने वाली प्रणाली सक्रिय किए जाने के साथ ही आगंतुकों को यहां आने की अनुमति दी गई। जिसके परिणाम स्वरूप पहले ही दिन से मंदिर में बड़ी संख्या में लोग आने लगे। खास तौर से सप्ताहांत के दिन लोगों की भीड़ उमड़ती है।
PunjabKesari

क्यूआर कोड (QR) से एंट्री
भीड़ प्रबंधन के लिए क्यूआर कोड से प्रवेश नियंत्रित रखने और शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित किया गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें मंदिर सुबह 6:30 बजे से रात आठ बजे तक खुला रहता है। सबसे खास बात तो है कि अक्टूबर के अंत तक सप्ताहांत के दिन खाली नहीं रहे। अक्टूबर के अंत तक बुकिग प्रणाली काम करती रही। जिसके बाद लोग मंदिर खुले रहने के दौरान आने के लिए स्वतंत्र हुए। वर्तमान की बात करें इस मंदिर में वेठ पाठ करने के लिए भारत से आए 14 पंडितों का समूह आया है, जो वेद पाठ को संपन्ना कर रहा है। सुबह 7:30 से 11 बजे दिन तक और फिर दोपहर बाद 3:30 बजे से रात 8:30 बजे तक वेद पाठ होता है। जिसमें आगंतुकों को भाग लेने की अनुमति दी गई है।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News