Baijnath Temple Kangra Himachal Pradesh: सुंदरता और पवित्रता का धाम है कामना लिंग

punjabkesari.in Sunday, Jan 23, 2022 - 11:29 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Shiv Temple Baijnath Kangra- बैजनाथ मंदिर हिमाचल की खूबसूरत वादियों में बसा प्रसिद्ध शिवधाम है। यहां भगवान शिव की ‘हीलिंग के देवता’ के रूप में पूजा होती है। बैजनाथ अथवा वैद्यनाथ भगवान शिव के अवतारों में से एक हैं।  यहां स्थित लिंग को "कामना लिंग" भी कहते हैं। अपने इस अवतार में वे अपने दर पर आए हुए भक्तों के सभी दुखों और पीड़ाओं को नष्ट ​करते हैं। किंवदंती है की इस मंदिर के जल में औषधीय गुण पाए जाते हैं, जिसे पीने से गंभीर बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं। यह मंदिर जिला कांगड़ा से 30 किलोमीटर दूर बैजनाथ में एक मनोहारी स्थल पर स्थित है।

PunjabKesari

बैजनाथ मंदिर उत्तर भारत के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। यहां पूरे साल भक्तों का आना-जाना लगा रहता है, दूसरे राज्यों से भी भक्त भोले बाबा के दर्शनों के लिए आते हैं। सावन महीने में मंदिर के बाहर दर्शनों के लिए आए हजारों भक्तों का मेला लगा रहता है। मंदिर के साथ बहने वाली बिनवा नदी पर बने खीर गंगा घाट पर स्नान कर भक्त आनंद पाते हैं क्योंकि मान्यताओं के अनुसार यहां स्नान का विशेष महत्व है।  

PunjabKesari

Baijnath Temple History- धार्मिक कथाओं के अनुसार इस मंदिर को द्वापर युग में पांडवों के अज्ञातवास के दौरान बनवाया गया था। स्थानीय लोगों के अनुसार मंदिर का बाकी कार्य भगवान शिव के भक्त मानुक्या और आहुका नाम के दो व्यापारियों ने 1204 ई में पूर्ण करवाया था। यह मंदिर तब से लेकर अब तक ‘शिवधाम’ के रूप में प्रसिद्ध है। बैजनाथ मंदिर उन मंदिरों में से एक है जहां भगवान शिव और उनके सबसे बड़े भक्त रावण की पूजा होती है।

PunjabKesari
 
Why Baijnath Temple is famous- इस मंदिर की दीवारों में बहुत सुंदर पत्थरनुमा नक्काशी है, जिससे पता चलता है कि इसका निर्माण 13वीं शताब्दी में हुआ था। हिमाचल के मंदिरों की एक यह विशेषता है कि ये देवीय शक्तियों के साथ-साथ बेजोड़ कला के लिए भी जाने जाते हैं। देश-विदेश से पयर्टक यहां दर्शनों के लिए आते हैं और सुंदर नजारों में आनंद लेते हैं। इस मंदिर के प्रांगण में कुछ छोटे-छोटे मंदिर हैं और नंदी बैल की मूर्ति भी है। लोग यहां आकर नंदी के कान में अपनी मन्नतें भी मांगते हैं। जो शीघ्र पूरी होती हैं।

PunjabKesari

How can I go to Baijnath Temple
रेल मार्ग- यहां बैजनाथ रेलवे स्टेशन है। पठानकोट से यात्री छोटी रेल से यहां पहुंच सकते हैं। 

PunjabKesari

सड़क मार्ग- सड़क मार्ग से आप कांगड़ा पालमपुर होते हुए भी बैजनाथ पहुंच सकते हैं।

PunjabKesari

हवाई मार्ग- कांगड़ा जिले में गग्गल तक हवाई सेवा भी उपलब्ध है, जहां से टैक्सी करके आप बैजनाथ पहुंच सकते हैं।

PunjabKesari

कहां ठहरें- मंदिर के पास ही बाजार है जहां यात्रियों के रहने के लिए कईं होटल, गेस्ट हाउस आदि बने हुए हैं। जहां आप विश्राम 
कर सकते हैं।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News