वरिष्ठ नागरिकों को SBI ने दिया बड़ा झटका, अब FD पर मिलेगा कम ब्याज

10/10/2019 3:11:09 PM

नई दिल्लीः वरिष्ठ नागरिकों के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) निवेश का सबसे लोकप्रिय जरिया रहा है। लेकिन देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने एक से दो साल की अवधि की एफडी पर मिलने वाले ब्याज में कटौती कर दी है। स्वाभाविक है कि दूसरे बैंक भी यह कदम उठा सकते हैं। इसलिए ऐसे वरिष्ठ नागरिक और सेवानिवृत्ति प्राप्त लोग, जो एफडी की ब्याज पर ही निर्भर थे, उनके लिए समस्या हो गई है।
PunjabKesari
वरिष्ठ नागरिकों पर पड़ेगा प्रभाव
आरबीआई ने आदेश दिया था कि बैंक ब्याज दरों को एमसीएलआर से नहीं, बल्कि रेपो रेट से जोड़ें। रेपो रेट समय-समय पर बदलता रहता है, इसलिए जमा रकम पर ब्याज दर भी लगातार बदलती रहेगी। जमा दर घटाने के बाद 50 लाख रुपए के एफडी पर सालभर में 5,000 रुपए कम ब्याज मिलेगा। एसबीआई के अनुसार, करीब 4.1 करोड़ सीनियर सिटिजन के एफडी खाते में कुल 14 लाख करोड़ रुपए पड़े हैं। हालांकि इसकी भरपाई के लिए केंद्र सरकार वरिष्ठ नागरिकों को राहत दे सकती है और उनके लिए महत्वपूर्ण कदम उठा सकती है। खबरों के अनुसार, सरकार सीनियर सिटीजंस सेविंग्स स्कीम (एससीएसएस) पर टैक्स में कटौती कर सकती है। इस स्कीम के तहत 60 वर्ष से ऊपर के बुजुर्ग 15 लाख रुपए तक जमा रख सकते हैं।
PunjabKesari
SBI ने घटाई ब्याज दर
देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने बुधवार को लोन पर ब्याज दर घटाने के साथ-साथ सीनियर सिटिजन के 1-2 वर्ष की अवधि वाले बैंक एफडी पर भी ब्याज दर 7 फीसदी से घटाकर 6.9 फीसदी जबकि बचत खाते में 1 लाख रुपए तक की जमा रकम पर ब्याज दर 3.5 फीसदी से घटाकर 3.25 फीसदी कर दी। नई ब्याज दर 10 अक्तूबर से प्रभावी हो गई है।
PunjabKesari


Supreet Kaur

Related News