सब्जियों की कीमतों में लगी आग, टमाटर 80 तो 400 रु/किलोग्राम बिक रही है ब्रोकली

2020-08-30T18:30:23.457

बिजनेस डेस्कः लॉकडाउन के बाद अनलॉक के दौरान सब्जियों के दामों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। दिल्ली-एनसीआर सहित देश के कई हिस्सों में जो सब्जियां 20 से 30 रुपए प्रति किलोग्राम बिकते थे, उन्हीं सब्जियों के दाम अब 100 रुपए के पार हो गए हैं। ब्रोकली जैसी सब्जियां तो 400 रुपए प्रति किलोग्राम से ज्यादा दामों में बिक रही हैं। सब्जियों के बढ़ते दाम से सभी वर्गों के लोग परेशान हैं। दिल्ली की मंडियों में टमाटर 60 से 80 रुपए प्रति किलोग्राम तो आलू 40 रुपए प्रति किलोग्राम बिक रहे हैं। गाजीपुर मंडी में धनिया 200 रुपए प्रति किलोग्राम और लहसुन 150 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंच चुकी है। वहीं मिर्च 100 से 150 रुपए प्रति किलोग्राम बिक रही है। बैंगन, भिंडी और प्याज के दामों भी काफी बढ़ोत्तरी हुई है।

सब्जियों के दाम क्यों आसमान छू रहे हैं?
बता दें कि निम्न और मध्यमवर्गीय परिवार अपनी आमदनी के मुताबिक रसोई का बजट तय करते हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद से ही सब्जियों के दामों में लगातार तेजी आ रही है। हर सप्ताह सब्जियों के दाम बढ़ते जा रहे हैं, जिससे लोगों के घर का बजट बिगड़ रहा है। मार्च से लेकर जुलाई के शुरुआत तक सब्जियों के दाम सामान्य थे लेकिन जुलाई के दूसरे सप्ताह से सब्जियों के दामों में तेजी आनी शुरू हो गई है, जो अभी तक जारी है।

सितंबर से काबू में होंगे दाम
आजादपुर सब्जी मंडी के अध्यक्ष और ट्रेडर राजेंद्र शर्मा कहते हैं, 'बरसात के समय में अक्सर मंडियों में सब्जियों की सप्लाई कम हो जाती है। इससे सब्जियों की कीमतें एक दम से बढ़ जाती हैं, लेकिन सितंबर से लेकर मार्च तक स्थिति सामान्य रहती है। यह कोई नई बात नहीं है 10 सितंबर से सब्जियां सस्ती होनी शुरू हो जाएंगी।''


 


jyoti choudhary

Related News