गौतम बुद्ध की इन बातों पर करें अमल, सफलता और शांति की होगी प्राप्ति

Tuesday, May 9, 2017 10:36 AM
गौतम बुद्ध की इन बातों पर करें अमल, सफलता और शांति की होगी प्राप्ति

वैशाख मास की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा कहा जाता है क्योंकि इस दिन बौद्ध धर्म के प्रवर्तक भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन बुद्ध जयंती का पर्व भी मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 10 मई बुधवार को है। राजपरिवार में जन्मे भगवान बुद्ध ने जीवन की सारी सुविधाओं का त्याग कर सच्चे ज्ञान की प्राप्ति हेतु बोधगया में कठोर तप किया और बुद्ध कहलाए। उन्होंने जीवन में ज्ञान प्राप्त कर इसे लोगों में भी बांटा। भगवान बुद्ध के द्वारा कही गई बातें आज भी लोगों का मार्गदर्शन कर रही हैं। जिनको अपनाने से जीवन में सफलता अौर शांति की प्राप्ति होती है। 

भगवान बुद्ध के अनुसार व्यक्ति को जंगली जानवर की अपेक्षा एक कपटी व दुष्ट मित्र से अधिक डरना चाहिए। जानकर केवल शरीर को कष्ट पहुंचा सकता है परंतु बुरा मित्र व्यक्ति की बुद्धि को नुक्सान पहुंचा सकता है। 

व्यक्ति के जीवन में स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा उपहार, संतोष सबसे बड़ा धन अौर वफादारी सबसे बड़ा संबंध है।

घृणा, घृणा करने से नहीं अपितु प्रेम से घटती है। यही शाश्वत नियम है।

हजारों खोखले शब्दों से अच्छा वह शब्द है जो शांति लाए।

भगवान बुद्ध के अनुसार अतीत के बारे में मत सोचो, भविष्य का सपना भी मत देखो केवल वर्तमान पर ध्यान केंद्रित करो।

जब ऊँ अौर अल्लाह एक हो सकता है तो हिंदू अौर मुसलमान क्यों नहीं। 

खुद कोशिश करके ही मोक्ष की प्राप्ति की जा सकती है। इसके लिए दूसरों पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। 

तीन चीजें अधिक समय तक छुपी नहीं रह सकती-सूरज, चंद्रमा अौर सत्य।

शक की आदत से भयानक कुछ भी नहीं है। शक लोगों को अलग कर देता है। यह एक ऐसा जहर है जो मित्रता खत्म कर अच्छे रिश्तों को तोड़ देता है। यह एक कांटा है जो चोटिल करता है। शक एक तलवार है जो रिश्तों का वध करती है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !