नॉर्थ MCD ने तैयार किया यूनिक प्रॉपर्टी ID, एेसे होगा फायदा

Wednesday, June 7, 2017 12:49 PM
नॉर्थ MCD ने तैयार किया यूनिक प्रॉपर्टी ID, एेसे होगा फायदा

नई दिल्लीः नॉर्थ एम.सी.डी. ने 15 अंकों का एक यूनिक प्रॉपर्टी आई.डी. तैयार किया है। इसकी मदद से घर का पता चलेगा और यह लोगों को कई सालों के बकाया प्रॉपर्टी टैक्स को भुगतान करने में भी मदद करेगा। अब तक करीब 2.51 लाख प्रॉपर्टी का यूनिक आई.डी. तैयार कर लिया गया है।

37 वार्डों में पूरा हो चुका है काम
नॉर्थ एम.सी.डी. के एक सीनियर अफसर के अनुसार इस इलाके में करीब 12 लाख प्रॉपर्टी है, लेकिन इनमें से केवल 5.31 लाख प्रॉपर्टी का ही रिकॉर्ड एम.सी.डी. के पास उपलब्ध है। जो रिकॉर्ड में नहीं है, वह प्रॉपर्टी मीसिंग हैं। अब इन प्रॉपर्टी का भी रिकॉर्ड तैयार किया जा रहा है, जिसके लिए डोर टु डोर सर्वे शुरू किया गया है। 37 वार्डों में सर्वे पूरा हो चुका है। 29 वार्डों में सर्वे जारी है, जिन वॉर्डों में सर्वे हो चुका है और सर्वे जारी है, वहां सर्वे के बाद रिकॉर्ड में मौजूद प्रॉपर्टी की तुलना में 6.37 लाख प्रॉपर्टी सामने आ चुके हैं।
PunjabKesari
क्या है यूनिक ID का फायदा
असेसर ऐंड कलेक्शन विभाग के अफसरों का कहना है कि जो यूनिक आई.डी. तैयार किया जा रहा है, वह देश में अपने किस्म का पहला यूनिक प्रॉपर्टी आई.डी. होगा। इस आई.डी. को गूगल मैप पर डालते ही, वह ठीक उसी लोकेशन को दर्शाएगा जहां वह प्रॉपर्टी स्थित है। अगर किसी को उस प्रॉपर्टी आई.डी. का पता भी ढूंढना है, तो उसे गूगल मैप पर डालकर असानी से ढूंढा जा सकता है। प्रॉपर्टी आई.डी. के अंतिम 4 अंक प्लॉट एरिया और उसके बाद अंतिम 3 अंक प्रॅपर्टी नंबर होंगे। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!