‘जेवर अतंरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से नोएडा, ग्रेटर नोएडा गुरुग्राम के बराबर आ जाएंगे’

11/25/2021 9:14:14 PM

नयी दिल्ली, 25 नवंबर (भाषा) रियल एस्टेट कंपनियों और परामर्शदाताओं का मानना है कि उत्तर प्रदेश के जेवर में प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से नोएडा और ग्रेटर नोएडा के संपत्ति बाजार को बढ़ावा मिलेगा तथा दोनों शहर गुरुग्राम के बराबर आ जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश के जेवर में नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की आधारशिला रखी। यह एशिया के सबसे बड़े हवाई अड्डों में से एक होगा।

इस बारे में उद्योग संगठन क्रेडाई (कॉन्फेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशंस ऑफ इंडिया)-एनसीआर के अध्यक्ष पंकज बजाज ने कहा, "नोएडा 20 वर्षों से इस दिन का इंतजार कर रहा था। नोएडा ने लाभ वाली स्थिति में न होने के साथ दिल्ली के महत्वपूर्ण उपनगरीय क्षेत्र के तौर पर गुरुग्राम के साथ प्रतिस्पर्धा की है।"
उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (दिल्ली) के करीब होने के कारण कॉरपोरेट और बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने हमेशा गुरुग्राम को नोएडा पर तरजीह दी है, जबकि नोएडा के पास बेहतर बुनियादी ढांचा और दिल्ली से पहुंच है।

बजाज ने कहा, "अगले कुछ वर्षों में, यह अंतर खत्म हो जाएगा।"
इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी के सीईओ अमित गोयल ने कहा, "यह नोएडा, ग्रेटर नोएडा और ताज एक्सप्रेसवे में वाणिज्यिक एवं आवासीय अचल संपत्ति (रियल एस्टेट) के लिए एक बड़ा लाभ है। नया हवाई अड्डा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में रियल एस्टेट की गतिशीलता को बदल देगा जिससे नोएडा क्षेत्र गुरुग्राम के बराबर आ जाएगा।"
उन्होंने कहा कि क्षेत्र में गुरुग्राम की तुलना में जमीन, अपार्टमेंट और कार्यालयों का किराया काफी कम है।

गौड़ ग्रुप के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मनोज गौड़ ने कहा, “यमुना एक्सप्रेसवे और एनसीआर क्षेत्र के लिए आज का दिन खास है। हमें खुशी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जेवर में नोएडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की आधारशिला रखी है। यह इस क्षेत्र में तेज गति से विकास के लिए अभूतपूर्व योगदान देगा...।’’
उन्होंने कहा कि बढ़ती व्यावसायिक गतिविधियां रोजगार के अवसरों को भी सुनिश्चित करेगी जिसके परिणामस्वरूप आवासीय और वाणिज्यिक संपत्तियों की मांग में वृद्धि हो सकती है।
मैक्स एस्टेट्स लिमिटेड के मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) ऋषि राज ने कहा कि नोएडा सरकारी निवेश में वृद्धि के साथ-साथ सामाजिक बुनियादी ढांचे और रोजगार के अवसरों में वृद्धि देख रहा है।
गुलशन ग्रुप के निदेशक दीपक कपूर ने कहा, “जेवर एयरपोर्ट की आधारशिला रखा जाना एक अच्छी खबर है और यह निश्चित रूप से नोएडा को वैश्विक मानचित्र पर स्थापित करेगा। यह कई उद्योगों से काफी निवेश लाएगा। हम सरकार के तेज गति से विकास और सहयोग से उत्साहित हैं।"
एबीए कॉर्प और क्रेडाई वेस्टर्न यूपी (पश्चिमी उत्तर प्रदेश) के अध्यक्ष अमित मोदी ने कहा, "इससे नोएडा क्षेत्र में एक बहुत बड़ा बदलाव आएगा। यह वैश्विक लॉजिस्टिक्स मानचित्र पर शहर को स्थापित करेगा...अब इस हवाई अड्डे के साथ, इस क्षेत्र को कई गुना आर्थिक लाभ होगा और साथ ही यह निर्माण कारोबार में रोजगार के अवसरों को भी खोलेगा।"
मिगसन ग्रुप के प्रबंध निदेशक यश मिगलानी ने कहा, “रियल एस्टेट सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक होगा जो लगातार विकास की ओर अग्रसर होगा, और हम हवाई अड्डे एवं फिल्म सिटी के परिचालन के साथ शहर के बदलते क्षितिज की ओर देख रहे हैं।"
हाउसिंग डॉट कॉम की अनुसंधान प्रमुख अंकिता सूद ने कहा, “जेवर हवाई अड्डा आने वाले समय में नोएडा और ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में सम्पूर्ण विकास के लिए एक महत्वपूर्ण कारक होगा। हवाई अड्डा नोएडा सहित एनसीआर में वाणिज्यिक गतिविधियों का केंद्र होगा और इन क्षेत्रों के लिए बहुत जरूरी संपर्क प्रदान करेगा, जिससे रियल एस्टेट क्षेत्र पर सकारात्मक असर पड़ेगा।"
उन्होंने कहा, "हम पहले से ही देख रहे हैं कि प्रस्तावित हवाई अड्डे के आसपास के छोटे बाजारों में आवासीय मांग ने सितंबर 2021 से गति पकड़ी है, जो कोविड-19 की दूसरी लहर के झटके के बावजूद 2020 के स्तर को पार कर गया है।”


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News