एनजीटी ने नायरा एनर्जी के विस्तार के जोखिमों के आकलन को तीन सदस्यीय समिति बनाई

6/11/2021 3:14:34 PM

नयी दिल्ली, 11 जून (भाषा) राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने नायरा एनर्जी की तेल रिफाइनरी के विस्तार से जुड़े जोखिमों के आकलन के लिए एक तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। रूस की कंपनी रोसनेफ्ट के स्वामित्व वाली यह रिफाइनरी गुजरात में स्थित है। समिति रिफाइनरी के विस्तार से जुड़े जोखिमों के आकलन के बाद कुछ उपाचारात्मक उपाय सुझाएगी।
एनजीटी के चेयरपर्सन आदर्श कुमार गोयल की अगुवाई वाली पीठ ने पर्यावरण मंजूरी के मामले में हस्तक्षेप से इनकार करते हुए नायरा एनर्जी को यह सुनिश्चित करने को कहा कि सभी आवश्यक रक्षोपाय अपनाए जाएं और पर्यावरणीय मंजूरी की शर्तों का अनुपालन किया जाए।
पीठ में न्यायमूर्ति एम सत्यनारायण भी शामिल है।
पीठ ने कहा कि ऐहतियाती सिद्धान्तों को लागू करते हुए हम मुख्य वन्यजीव वार्डन, गुजरात, मेरिन नेशनल पार्क के निदेशक तथा राज्य पीसीबी की तीन सदस्यीय समिति का गठन कर रहे हैं। यह समिति परियोजना के विस्तार से जुड़े जोखिमों के आकलन के बाद उपाय सुझाएगी।
पीठ ने कहा कि समिति गतिविधियों के परिचालन की वजह से होने वाली दुर्घटनाओं से बचाव के लिए सुरक्षा उपायों की सिफारिश कर सकती है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News

static