आतिथ्य एवं पर्यटन उद्योग ने उसके स्टाफ को टीकाकरण मामले में कोरोना योद्धा मानने का अनुरोध किया

2021-04-08T18:11:00.037

नयी दिल्ली, आठ अप्रैल (भाषा) होटल एवं पर्यटन उद्योग के संगठन ‘फेडरेशन आफ एसोसियेसंस इन इंडियन टूरिज्म एण्ड हास्पिटलिटी (एफएआईटीएच)’ ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने कोरोना वायरस टीकाकरण के मामले में पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र से जुड़े सभी कर्मियों को कोरोना योद्धा का दर्जा देकर उसमें काम करने वाले हर आयु वर्ग के कर्मचारियों को प्राथमिकता के साथ टीका लगाने का आग्रह किया है।
एफएआईटीएच के चेयरमैन नकुल आनंद ने कहा कि सरकार यदि यह कदम उठाती है तो इससे उसके साथ जुड़े सभी संघ सदस्यों के प्रयासों को सहारा मिलेगा। पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र से जुड़े तमाम संगठन केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर भारतीय पर्यटन क्षेत्र को फिर से पटरी पर लाने में लगे हुये हैं।
एफएआईटीएच ने एक वक्तव्य में कहा है, ‘‘हमने पर्यटन मंत्रालय से यह निवेदन किया है कि यात्रा और आतिथ्य क्षेत्र में काम करने वाले स्टाफ को कोविड योद्धा के तौर पर माना जाये और कोरोना टीकाकरण के मामले में उन्हें भी आयु वर्ग के मानदंडों को दरकिनार करते हुये प्राथमिकता प्राप्त समूह में शामिल किया जाये। ’’
आतिथ्य एवं पर्यटन उद्योग के इस शीर्ष संगठन का कहना है कि सरकार यदि उनकी मांग पर गौर करती है तो इससे भारतीय पर्यटन उद्योग सुरक्षित और जिम्मेदारी पूर्ण तरीके से अतिथियों, यात्रियों के स्वागत के लिये तैयार होगा।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static