दिल्ली में ऑटो रिक्शा, टैक्सी से सफर करना हो सकता है महंगा

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 10:09 PM (IST)

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी में तिपहिया वाहन के लिए प्रति किलोमीटर पर किराए में डेढ़ रूपए तथा टैक्सियों के लिए आधार शुल्क (बेस फेयर) में 15 रूपए की वृद्धि के प्रस्ताव के साथ ही ऑटो रिक्शा एवं टैक्सी का भाड़ा शीघ्र बढ़ने जा रहा है। 

अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किराए में वृद्धि के प्रस्ताव को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई है और अगली बैठक में उसे मंजूरी के लिए मंत्रिमंडल के सामने पेश किए जाने की संभावना है। 

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इस बात की पुष्टि की कि सरकार किराया बढ़ाने की योजना बना रही है। अधिकारियों के अनुसार सीएनजी के दाम बढ़ने के कारण किराये में बढ़ोत्तरी की जरूरत उत्पन्न हुई है। सरकार ने अप्रैल में 13 सदस्यीय किराया संशोधन समिति बनायी थी। समिति ने तिपहिया वाहनों के लिए किराए में प्रति किलोमीटर एक रूपए की वृद्धि और टैक्सियों के किराये में 60 फीसद तक वृद्धि की सिफारिश की थी। 

अधिकारियों ने कहा कि ऑटो रिक्शा के लिए मीटर डाउन शुल्क पहले के 25 रूपए आधार शुल्क से बढ़ाकर 30 रूपए कर दिया जाएगा तथा उसके बार प्रति किलोमीटर साढ़े नौ रूपए के बजाय 11 रूपए वसूला जाएगा।

इसी प्रकार टैक्सियों के लिए मीटर डाउन शुल्क अब 25 के बजाय 40 रू होगा तथा गैर एसी टैक्सियों के लिए प्रति किलोमीटर 14 रूपए के बजाय 17रूपए तथा एसी टैक्सियों के लिए 16 के बजाय 20 रूपए देने होंगे। एप आधारित संचालकों ने पहले ही किराया बढ़ा दिया था जबकि ऑटोरिक्शा एवं टैक्सियों के किराए में संशेाधन नहीं हुआ था जो सरकार के निमयों से संचालित होते हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News