दुनिया में सबसे ऊंचे होंगे श्रीराम, सरयू किनारे लगेगी  823 फुट की मूर्ति

2020-08-06T13:34:16.5

नेशनल डेस्कः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पौराणिक नगरी अयोध्या में भूमि पूजन कर चांदी की ईंट और चांदी के फावड़े से ‘श्री राम जन्मभूमि मंदिर' निर्माण की आधारशिला रखी। इसके साथ ही केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा का न सिर्फ एक प्रमुख चुनावी वादा पूरा हुआ बल्कि उस अभियान की समाप्ति भी हो गई जिसके सहारे इस भगवा पार्टी ने राजनीतिक सत्ता के शिखर तक का सफर तय किया। राम मंदिर निर्माण की नींव रखने के बाद मोदी ने कहा कि आज सदियों का इंतजार खत्म हुआ है। 

PunjabKesari

दुनिया में सबसे ऊंचे होंगे श्रीराम
सरयू किनारे बेहट घाट पर भगवान श्रीराम की मूर्ति बनाए जाने का प्रस्ताव है। यह मूर्ति 250 मीटर यानि कि 823 फुट होगी, जिसका बेस 50 मीटर का होगा। इस बेस में डिजीटल म्यूजियम बनाया जाएगा, जिसमें रामायण को दर्शाया जाएगा। यहां भगवान विष्णु के सभी अवतारों को तकनीक के माध्यम से दिखाया जाएगा। मूर्तिकार नरेश कुमार कुमावत ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देशों पर उन्होंने भगवान श्रीराम की प्रतिमा का जो प्रतिरूप बनाया है, वह आजानु बाहु होगी (आजानु बाहु एक संस्कृत शब्द है जिसका मतलब होता है एक ऐसा व्यक्ति जिसकी बाजुओं की लंबाई घुटने तक हो। मूर्ति निर्माण का कुछ कार्य गुरुग्राम में भी होगा। फिलहाल भूमि अधिग्रहण का काम चल रहा है। अनुमति मिलते ही सरयू किनारे काम शुरू होगा।


Seema Sharma

Related News