सखी योजना के बारे में घाटी की महिलाओं को जागरुक किए जाने की जरुरत : भाजपा

6/9/2021 8:34:05 PM

जम्मू : जम्मू-कश्मीर में महिलाओं के कल्याण के लिए केन्द्र की ओर से शुरू की गयी सखी योजना के बारे में घाटी की महिलाओं को जागरुक किए जाने की जरुरत बताते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि इसके लिए एक अभियान चलाया जाना चाहिए। भाजपा ने कोविड-19 महामारी के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान घरेलू हिंसा के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एक नये महिला आयोग के गठन की भी मांग की है, ताकि महिलाओं की शिकायतें सुनी जा सकें।

 

भाजपा की प्रवक्ता रजनी सेठी ने संवाददाताओं से कहा, "निजी और सार्वजनिक स्थानों पर हिंसा का शिकार होने वाली महिलाओं का समर्थन करने के उद्देश्य से शुरू की गयी सखी योजना केवल कागजों पर ही सिमट कर रह गयी है। केन्द्र शासित प्रदेश की महिलाओं को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। "

भाजपा की जम्मू-कश्मीर इकाई के महिला मोर्चे की पूर्व अध्यक्ष सेठी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने कुछ वर्ष पहले इस योजना की शुरुआत की थी, लेकिन जागरुकता अभियान की कमी और इसे लागू करने वाले संबंधित विभाग के लचर रवैये के कारण अभी भी इस योजना के बारे में कोई नहीं जानता।

 

भाजपा नेता ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामलों में काफी इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा, "संबंधित विभाग की सक्रिय भागीदारी के साथ इसे लेकर एक जागरुकता अभियान चलाया जाना चाहिए ताकि जरुरतमंद महिलाएं इस योजना का उपयोग कर अपनी जिंदगी बचा सकें।ज्ज्" भाजपा नेता ने योजना के तहत हेल्पलाइन नंबर भी जारी करने की मांग की। उन्होंने कहा, च्च्सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी नहीं होने के कारण घरेलू हिंसा के अधिकांश मामले सामने नहीं आ पाते।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Recommended News

static