Pok चुनाव: इमरान की पार्टी की जीत पर PML-N उम्मीदवार ने कहा- "इंसाफ न मिला तो भारत से मांगूगा मदद"

2021-07-27T13:18:34.03

पेशावरः पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (PTI) की जीत को विपक्ष ने सिरे से खारिज कर दिया है। पाकिस्तान के विपक्षी नेताओं - PPP अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ज़रदारी और PML-N की उपाध्यक्ष मरयम नवाज़ ने आरोप लगाया कि PTI ने धांधली के जरिए चुनाव जीता और उन्होंने रविवार को हुए चुनाव के नतीजों को खारिज कर दिया। PoK विधानसभा का पिछला आम चुनाव जुलाई 2016 में हुआ था और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के नेतृत्व में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की इसमें जीत हुई थी।

PunjabKesari

भुट्टो ने दावा किया कि चुनाव आयोग चुनावी नियमों का उल्लंघन करने पर पीटीआई के खिलाफ कार्रवाई करने में विफल रहा है। उन्होंने कहा, "PTI ने हिंसा और धांधली का सहारा लिया।" इसके बावजूद PPP 11 सीटों के साथ सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के रूप में उभरी है , जिसे पिछली बार तीन सीटें मिली थीं। उन्होंने पार्टी के जीतने वाले उम्मीदवारों की सूची भी साझा की। जियो न्यूज के मुताबिक PML-N के उम्मीदवार चौधरी मोहम्मद इस्माईल गुर्जर ने रविवार को धमकी दी कि अगर स्थानीय प्रशासन उनकी चिंताओं को दूर करने में नाकाम रहता है तो वह "भारत की मदद मांगेंगे।’’ दरअसल पाक अधिकृत कश्मीर की जनता पकिस्तान के अत्याचारों से इस कदर परेशान हो गयी है,कि उसने भारत से PoK को पकिस्तान के कब्जे से मुक्त करने के लिए फरियाद लगाई है।  पाकिस्तानी मुस्लिम लीग (नवाज ) के नेता इस्माइल गुजर्र ने भी भारत की मोदी सरकार से PoK की मदद करने और उसे भारत में मिलाने की अपील की है।

 

इससे पहले उनकी पार्टी के मतदान एजेंटों को एक मतदान केंद्र से हटा दिया गया था। PTI-एन की उपाध्यक्ष मरयम नवाज़ ने कहा कि उन्होंने परिणामों को स्वीकार नहीं किया है और न ही कभी स्वीकार करेंगी। "मैंने 2018 के नतीजों को न तो स्वीकार किया है और न ही इस नकली सरकार को माना है।” हालांकि, उन्होंने चुनावों में "PTI द्वारा हिंसा और धांधली" के बावजूद "अच्छी लड़ाई लड़ने" के लिए PML-N के कार्यकर्ताओं की प्रशंसा की। PPP की उपाध्यक्ष सीनेटर शेरी रहमान ने कहा, “ चुनाव में व्यवस्थित धांधली का सबूत है।" उन्होंने कहा कि PTI कार्यकर्ताओं ने मतदान के दौरान PPP कार्यकर्ता पर हमला किया, जबकि पुलिस ने उनकी पार्टी के एक शिविर को उखाड़ फेंका। रहमान ने कहा कि "कई मतदान केंद्रों की मतदाता सूचियों में साफ फर्क है।”

PunjabKesari

PML-N की प्रवक्ता मरयम औरंगजेब ने एक बयान में दावा किया कि चुनाव में धांधली करने के लिए ‘‘पीटीआई के गुंडों ने’’ गुजरांवाला के अलीपुर छत्ता इलाके में उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हमला किया। हालांकि, क्षेत्र के चुनाव आयोग ने आरोपों को खारिज कर दिया और कहा कि चुनाव निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से हुए हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त अब्दुल राशिद सुलेहरिया ने मीडिया को बताया कि वह चुनाव प्रक्रिया से संतुष्ट हैं। 

 

पूर्व 'प्रधानमंत्री' और PML-Nनेता राजा फारूक हैदर ने अपनी सीट बचा ली है। एक अन्य पूर्व 'प्रधानमंत्री' और मुस्लिम कॉन्फ्रेंस के प्रमुख सरदार अतीक अहमद खान भी जीत गए हैं। पीओके में सरकार प्रमुख को ‘प्रधानमंत्री’ कहा जाता है। पीओके के विभिन्न जिलों की 33 सीटों पर कुल 587 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा जबकि पाकिस्तान में बसे जम्मू-कश्मीर के शरणार्थियों की 12 सीटें पर 121 प्रत्याशी मैदान में थे।

PunjabKesari

बता दें स्थानीय मीडिया  के अनुसार प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ( )ने पीओके विधानसभा की 45 सीटों के लिए हुए चुनाव में 25 सीटें जीती हैं जिससे पीटीआई पहली बार PoK में सरकार बनाएगी। सरकारी ‘रेडियो पाकिस्तान’ ने चुनाव आयोग द्वारा घोषित अनौपचारिक नतीजों के हवाले से खबर दी है, PTI ने 25 सीटें जीती हैं जबकि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) 11 सीटें जीत कर दूसरे स्थान पर है और फिलहाल सत्ता पर काबिज पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) को सिर्फ 6 सीटें मिली हैं।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Recommended News