प्रधानमंत्री मोदी 4 जुलाई को आंध्र प्रदेश के भीमावरम और गुजरात के गांधीनगर का दौरा करेंगे

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 03:44 PM (IST)

 

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को आंध्र प्रदेश स्थित भीमावरम का दौरा करेंगे, जिस दौरान वह महान स्वतंत्रता सेनानी अल्लूरी सीताराम राजू की 125वीं जयंती के अवसर पर वर्ष भर चलने वाले समारोहों की शुरूआत करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, मोदी सोमवार को गुजरात के गांधीनगर में ‘डिजिटल इंडिया वीक 2022' का भी उद्घाटन करेंगे। बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री चार जुलाई को पूर्वाह्न करीब 11 बजे महान स्वतंत्रता सेनानी अल्लूरी सीताराम राजू की 125वीं जयंती पर वर्ष भर चलने वाले समारोहों की भीमावरम में शुरुआत करेंगे और इसके बाद वह गांधीनगर में ‘डिजिटल इंडिया वीक 2022' का अपराह्न करीब साढ़े चार बजे उद्धाटन करेंगे।

बयान में कहा गया है कि ‘आजादी का अमृत महोत्सव' के तहत, सरकार स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को स्वीकार करने और देश भर के लोगों को उनके बारे में जागरूक करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी प्रयास के तहत, प्रधानमंत्री मोदी महान स्वतंत्रता सेनानी राजू की 125 वीं जयंती पर वर्ष भर चलने वाले समारोह की शुरुआत करेंगे और उनकी 30 फुट ऊंची कांस्य प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे। चार जुलाई, 1897 को जन्मे राजू को पूर्वी घाट क्षेत्र में आदिवासी समुदायों के हितों की रक्षा के लिए अंग्रेजों के खिलाफ उनके संघर्ष के लिए याद किया जाता है। उन्होंने रम्पा विद्रोह का नेतृत्व किया था, जो 1922 में शुरू हुआ था। उन्हें स्थानीय लोग ‘‘मन्यम वीरुडु'' (जंगलों का नायक) कहते हैं। सरकार ने साल भर चलने वाले समारोहों के तहत कई पहल करने की योजना बनाई है।

बयान में कहा गया है कि विजयनगरम जिले के पंडरंगी में राजू की जन्मस्थली और चिंतापल्ली पुलिस थाने (इस पुलिस थाने पर हुए हमले ने रम्पा विद्रोह की शुरुआत की थी) को पुन:स्थापित किया जाएगा। सरकार ने मोगल्लु में अल्लूरी ध्यान मंदिर के निर्माण को भी मंजूरी दे दी है, जिसमें अल्लूरी सीताराम राजू की ध्यान मुद्रा में एक प्रतिमा होगी। इसमें भित्ति चित्रों एवं कृत्रिम बुद्धिमत्ता से लैस संवाद प्रणाली के माध्यम से स्वतंत्रता सेनानी के जीवन की कहानी को बयां किया जाएगा। प्रधानमंत्री गांधीनगर में ‘डिजिटल इंडिया वीक 2022' का उद्घाटन करेंगे, जिसका विषय ‘कैटेलाइजिंग न्यू इंडियाज टेकेड' (नए भारत के प्रौद्योगिकी दशक को उत्प्रेरित करना) है।

मोदी इस कार्यक्रम के दौरान प्रौद्योगिकी की पहुंच बढ़ाने, जीवन को आसान बनाने के लिए सेवा वितरण को सुव्यवस्थित करने और स्टार्टअप को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कई डिजिटल पहल शुरू करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ‘डिजिटल इंडिया भाषिनी' की भी शुरुआत करेंगे, जो इंटरनेट और डिजिटल सेवाओं तक भारतीय भाषाओं में आसान पहुंच को सक्षम बनाएगी। बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री भारत के टियर- दो और टियर- तीन शहरों में सफल स्टार्टअप की तलाश करने, उन्हें समर्थन देने, विकसित करने और सफल बनाने के लिए ‘डिजिटल इंडिया जेनेसिस' (नवोन्मेषी स्टार्टअप के लिए अगली पीढ़ी का समर्थन) की शुरुआत करेंगे, जो प्रौद्योगिकी पर आधारित स्टार्टअप का एक राष्ट्रीय मंच होगा। इस योजना के लिए 750 करोड़ के व्यय की योजना बनाई गई है।

इसके अलावा, प्रधानमंत्री ‘इंडियास्टैक डॉट ग्लोबल' की भी शुरूआत करेंगे, जो आधार, यूपीआई, डिजिलॉकर, कोविन टीकाकरण मंच, गवर्नमेंट ई मार्केटप्लेस (जीईएम), दीक्षा मंच और आयुष्मान भारत डिजिटल हेल्थ मिशन जैसी इंडिया स्टैक के तहत लागू प्रमुख परियोजनाओं का एक वैश्विक भंडार होगा। प्रधानमंत्री नागरिकों को ‘माईस्कीम' समर्पित करेंगे, जो सरकारी योजनाओं तक पहुंच को सुगम बनाने वाला मंच होगा। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ‘मेरी पहचान' सेवा भी आमजन को समर्पित करेंगे। मोदी चिप्स टू स्टार्टअप (सी2एस) कार्यक्रम के तहत समर्थित 30 संस्थानों के पहले समूह की भी घोषणा करेंगे। डिजिटल इंडिया सप्ताह 2022 के तहत चार जुलाई से छह जुलाई तक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News