G-20 समिट में PM मोदी का मंत्र, कोरोना के खिलाफ साझा जंग पर जोर

2020-11-22T09:42:07.31

नेशनल डेस्क: कोरोना संकट के बीच हुए 15वें G-20 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया के सामने द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ी चुनौती और मानवता के इतिहास में महत्वपूर्ण मोड़ है। उन्होंने कोरोना के बाद की दुनिया में प्रतिभा, तकनीक, पारदर्शिता और संरक्षण के आधार पर एक नए वैश्विक सूचकांक के विकास का सुझाव दिया। मोदी ने यह भी कहा कि covid-19 के बाद की दुनिया में ‘कहीं से भी काम करना' एक नई सामान्य स्थिति है और G-20 का एक डिजिटल सचिवालय बनाए जाने का सुझाव भी दिया।उन्होंने कोरोना के बाद की दुनिया के लिए एक नए वैश्विक सूचकांक का आह्वान किया जिसमें चार प्रमुख तत्व शामिल किए। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी इस सम्मेलन में शामिल हुए। सम्मेलन की अध्यक्षता सऊदी अरब के किंग सलमान कर रहे हैं। 

PunjabKesari

ये बोले पीएम मोदी

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को G20 समिट में कहा कि कोरोना महामारी दुनिया के सामने द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ी चुनौती और मानवता के इतिहास में महत्वपूर्ण मोड़ है। 
  • कोरोना के बाद की दुनिया में प्रतिभा, तकनीक, पारदर्शिता और संरक्षण के आधार पर एक नए वैश्विक सूचकांक के विकास का सुझाव दिया। 
  • कोविड के बाद की दुनिया में ‘कहीं से भी काम करना' एक नई सामान्य स्थिति है और जी20 का एक डिजिटल सचिवालय बनाए जाने का सुझाव भी दिया। 
  • दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के समन्वित प्रयास निश्चित रूप से इस महामारी से तेजी से निपटने की अगुवाई करेंगे। डिजिटल सम्मेलन के आयोजन के लिए सऊदी अरब का आभार।
  • मोदी ने जी20 के प्रभावी कामकाज के लिए डिजिटल सुविधाओं के विकास के उद्देश्य से भारत के सूचना प्रौद्योगिकी कौशल की पेशकश की। प्रधानमंत्री ने इस बात को रेखांकित किया कि पिछले कुछ दशकों में जहां पूंजी और वित्त पर जोर रहा है, वहीं अब समय आ गया है कि मानव प्रतिभाओं का बड़ा पूल तैयार करने के लिए बहु-कौशल तथा पुन: कौशल पर ध्यान दिया जाए।
  • समिट में 19 सदस्य देशों, यूरोपीय संघ, अन्य आमंत्रित देशों के शासन प्रमुखों या राष्ट्राध्यक्षों ने तथा अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
    PunjabKesari

बता दें कि सऊदी अरब के शाह सलमान ने G-20 सम्मेलन की शुरुआत की। इस साल कोरोना वायरस की वजह से समूह के सदस्य देशों के राष्ट्र प्रमुखों की बैठक डिजिटल तरीके से हो रही है। भारत 2022 में G-20 के सम्मेलन की मेजबानी करेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया कि G-20 के नेताओं से बहुत रचनात्मक वार्ता हुई।

PunjabKesari


Seema Sharma

Related News