हमारे हाथ और जेब खाली हैं: बिजली विभाग के अस्थायी  कर्मी

2020-11-10T19:24:26.443

साम्बा,  :अपनी लंबित मांगों को लेकर आज जम्मू-कश्मीर सैंट्रल नान गैजटेड इलैक्ट्रिकल इम्प्लाइज यूनियन के सदस्यों ने साम्बा में पत्रकार वार्ता करके अपनी मांगों को उठाया। इस मौके पर यूनियन के प्रांतीय सचिव सुरजीत खजूरिया, प्रांतीय प्रधान गुरणाम सलाथिया ने कहा कि एस.आर.ओ. 381 के तहत सात साल का कार्यकाल पूरा करने वाले कर्मियों को तुंरत पक्का किया जाए। उन्होंने कहा कि जम्मू, साम्बा कठुआ के साथ भेदभाव किया जा रहा है, क्योंकि अन्य जिलों में 2010 से लगे कर्मियों को भी पक्का किया जा चुका है, लेकिन हम खाली हाथ बैठे हुए है और सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। 

 


                            सुरजीत खजूरिया ने हिा कि कई सालों से उनका बकाया वेतन पड़ा हुआ है, उसे भी फौरन जारी किया जाए, जबकि एस.आर.ओ. 43 के तहत काम के दौरान अपनी जान गवाने वाले मुलाजिम के परिवार को भी नौकरी का प्रावधान मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि पुलिस की तरह बिजली कर्मी भी 24 घण्टे ड्यूटी करते है, इसलिए उनका भी 70 लाख का बीमा होना चाहिए। प्रांतीय सचिव ने कहा कि बिजली में लगातार हो रहे हादसों को रोकने के लिए जम्मू में एक ट्रैङ्क्षनग सैंटर बनना चाहिए ताकि वहां पर काम की सभी तकनीकि चीजों को अच्छी तरह से सिखाया जा सके। इस मौके पर  अजय सिंह, रमन शर्मा, कुलदीप राज, अशिवनी शर्मा, बौध राज, गारा राम आदि मौजूद थे।
1


Monika Jamwal

Recommended News