शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने पहुंचे वार्ताकार, क्या खुलेगा रास्ता

2020-02-21T19:24:45.877

नेशनल डेस्कः दिल्ली के शाहीनबाग में CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों से वार्ताकार लगातार बातचीत की कोशिश कर रहे हैं। पिछले तीन दिनों से वार्ताकार शाहीनबाग जाकर प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर समस्या का हल निकालने में जुटे हुए हैं। हालांकि, अभी तक बातचीत किसी नतीजे तक नहीं पहुंच पाई है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकार सीनियर वकील संजय हेगड़े और वकील साधना रामचंद्रन शुक्रवार को तीसरे दिन फिर साढ़े छह बजे प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने शाहीनबाग पहुंचे।
PunjabKesari
सीनियर एडवोकेट साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि आप लोगों ने सिर्फ एक रोड बंद की है, तो दूसरी रोड को किसने बंद किया है? इस पर प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम यहां पर धरने पर बैठे हैं और अपनी सुरक्षा के लिए रोड बंद किया है। इस पर सीनियर एडवोकेट संजय हेगड़े ने पूछा कि क्या आप लोगों ने ही दूसरी सड़क को बंद किया है, तो प्रदर्शनकारियों ने कहा कि दूसरी रोड को पुलिस ने बंद किया है। इस पर साधना रामचंद्रन ने कहा कि आपके मुताबिक सड़क बंद करने के लिए दिल्ली पुलिस जिम्मेदार है।
PunjabKesari
इसके बाद वार्ताकारों ने रास्ते को लेकर दिल्ली पुलिस से पूछा, तो एसएचओ ने कहा कि रास्ते को प्रदर्शनकारियों ने बंद कर रखा है। इस पर प्रदर्शनकारियों ने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस हमको सुरक्षा देने का वादा करे, तो हम रास्ता खोल सकते हैं। इस पर दिल्ली पुलिस ने फौरन कह दिया कि हम प्रदर्शनकारियों को पूरी सुरक्षा देंगे। हालांकि प्रदर्शनकारी राजी नहीं हुए और कहा कि हमको दिल्ली पुलिस पर भरोसा नहीं हैं। दिल्ली पुलिस लिखित में सुरक्षा देने का वादा करे। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि असम में एनआरसी लागू हुआ, तो जिन लोगों के पास कागजात नहीं थे, उनकी जमीन चली गई।
PunjabKesari
मीडिया के सामने होगी बातचीत: प्रदर्शनकारी
इससे पहले प्रदर्शनाकरियों ने कहा कि वो मीडिया के सामने ही  बातचीत करेंगे. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि अगर वार्ताकार मीडिया को बाहर जाने के लिए कहते हैं, तो फिर कोई बातचीत नहीं होगी। बता दें कि इससे पहले दोनों दिन बातचीत मीडिया के सामने नहीं हुई थी। वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों से समस्या का समाधान निकालने के लिए खुद ही बातचीत करने की कोशिश में लगे रहे।
PunjabKesari
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बुधवार को वार्ताकार सीनियर एडवोकेट संजय हेगड़े और सीनियर एडवोकेट साधना रामचंद्रन शाहीन बाग पहुंचे। उन्होंने मंच पर पहुंचकर सुप्रीम कोर्ट का आदेश पढ़ा और फिर शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से सुलह पर बातचीत की. इसके बाद वार्ताकार लौट गए। वहीं, वार्ताकार गुरुवार को फिर से शाहीन बाग पहुंचे, हालांकि दोनों दिन की बातचीत पर कोई हल नहीं निकला। 


Yaspal

Related News