कश्मीर: SPO और उसके परिवार को गोलियों से भूनने के पहले बेरहम आतंकियों ने मारी थी 18 महीने की बच्ची को लात

punjabkesari.in Wednesday, Jun 30, 2021 - 12:26 PM (IST)

नेशनल डेस्क: जम्मू-कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों द्वारा विशेष पुलिस अधिकारी (पीएसओ) और उनके परिवार की बर्बर हत्या के मामले की जांच में और भी दिल दहला देने वाली बातें सामने आयी हैं। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि उन बर्बर आतंकवादियों ने ना सिर्फ 18 महीने की बच्ची को लात मारी, बल्कि उसकी मां को भी मारा। दक्षिण कश्मीर में सोमवार की रात एक विदेशी सहित दो आतंकवादियों ने बीमार एसपीओ फैयाज अहमद के दरवाजे पर दस्तक दी और उन्हें पीटना शुरू कर दिया। जब आतंकवादियों ने उनपर गोलियां बरसानी शुरू कीं तो उनकी पत्नी रजा बेगम और 22 साल की बेटी राफिया ने उन्हें बचाने का असफल प्रयास किया। इस घटनाक्रम में रजा बेगम और राफिया घायल हो गयीं और मंगलवार को अस्पताल में उनकी मौत हो गई। 

जांच में यह बात सामने आयी है कि अहमद की 18 महीने की पोती और बहू को भी आतंकवादियों ने बुरी तरह मारा-पीटा। सुरक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आतंकवादी रात करीब साढ़े दस बजे (10:30) हरीपारीगाम स्थित उनके घर पर पहुंचे। अहमद की बहू ने परिवार के लिए दया की भीख मांगते हुए अपनी 18 महीने की बेटी को आतंकवादियों के कदमों में रख दिया, लेकिन, निर्दयी आतंकवादियों ने उस बच्ची को लात मारी और परिवार के साथ जधन्य अपराध किया। 

मामले की जांच कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘कौन सी संस्कृति ऐसी बर्बरता की शिक्षा देती है... 18 महीने की बच्ची को लात मारना, एक निर्दोष परिवार पर 20-25 गोलियां बरसाना।'' उन्होंने बताया कि पाकिस्तान के आतंकवादी समूह के दिल में कश्मीर घाटी के लोगों के लिए कोई प्यार नहीं है। कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने सोमवार को बताया था कि एक विदेशी सहित जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी इन हत्याओं में शामिल थे। कुमार ने कहा था कि एसपीओ, उनकी पत्नी और बेटी की मौत से बहुत दुख हुआ है। उन्होंने आश्वासन दिया था कि घटना में संलिप्त आतंकवादियों को जल्द पकड़ लिया जाएगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News