बंगाल चुनाव से पहले प्रशांत किशोर की बड़ी भविष्यवाणी, BJP अच्छा करती है, तो छोड़ दूंगा राजनीति

punjabkesari.in Monday, Dec 21, 2020 - 12:06 PM (IST)

नई दिल्ली: बंगाल में चुनाव से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर बीजेपी को लेकर की गई भविष्यवाणी से खलबली मच गई है। प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा, मीडिया का एक वर्ग भाजपा के समर्थन में माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है, वास्तव में भाजपा पश्चिम बंगाल में डबल डिजिट (दहाई आंकड़ा) के लिए भी संघर्ष करेगी। कृपया इस ट्वीट को सेव करके रखें और यदि भाजपा इससे बेहतर प्रदर्शन करती है तो मैं ट्विटर छोड़ दूंगाा।

PunjabKesari

ममता ने पीके को अल्टीमेटम
वहीं कईं नेताओं की पार्टी को छोड़ जाने के बाद ममता ने पीके को अल्टीमेटम दे दिया है। यदि वह स्थिति को नियंत्रित करने में असफल होते हैं तो खुद ममता आखिरी फैसला लेंगी। टीएमसी के कद्दावर नेता सुवेंदु अधिकारी सहित कई नेताओं के पार्टी छोडऩे के बाद पार्टी अब डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। पार्टी में आई दरार को पाटने के लिए अब खुद ममता बनर्जी को मैदान में उतरना पड़ रहा है।  पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार अभी से शुरू हो गया है। भाजपा ममता बनर्जी के गढ़ में सेंध लगाने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। अमित शाह आज ही पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे से दिल्‍ली लौटे हैं। भाजपा बार बार दावा कर रही है इस विधानसभा चुनाव में दीदी को हार का मुंह देखना होगा और भाजपा अपनी सरकार बनाएगी।

PunjabKesari

अमित शाह ने ममता सरकार पर निशाना साधा
इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष जे. पी. नड्डा के काफिले पर हमले को लेकर राज्य की ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधा और कहा था कि केंद्र को राज्य के उन आईपीएस अधिकारियों को केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर बुलाने का अधिकार है, जो नड्डा की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार थे। शाह ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित करने में विफल रही हैं और राज्य विकास के सभी मापदंडों पर तेजी से पिछड़ता जा रहा है।

PunjabKesari

गृह मंत्री ने यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि बनर्जी और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस राज्य सरकार की विफलताओं से जनता का ध्यान हटाने के लिए बाहरी-भीतरी के मुद्दे को उठा रही है। उन्होंने कहा, केंद्र को राज्य सरकार को (आईपीएस अधिकारियों को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर बुलाने के लिए) पत्र भेजने का पूरा अधिकार है। अगर उन्हें कोई संशय है तो नियम पुस्तिका देख सकते हैं। बाहरी-भीतरी की बहस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल में यदि भाजपा सत्ता में आती है तो कोई माटी का लाल ही मुख्यमंत्री बनेगा। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि ममता दी कुछ चीजें भूल गई हैं।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Anil dev

Related News

Recommended News