मामल्लापुरम में मोदी-जिनपिंग की महामुलाकात, कश्मीर पर नहीं सुरक्षा और आतंकवाद पर होगी बात

10/10/2019 9:17:11 AM

मामल्लापुरम (तमिलनाडु): तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के नजदीक तटीय शहर मामल्लापुरम में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच 11 और 12 अक्तूबर को होने जा रहे दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक को लेकर पूरे शहर को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है। साथ ही, इलाके का सौंदर्यीकरण और अन्य तैयारियां अंतिम चरण में है। शहर के पास तटरक्षक के जहाज ने लंगर डाल दिया है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक शी जिनपिंग से मीटिंग के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी मौजूद रहेंगे। दूसरी तरफ शी जिनपिंग के साथ कम्युनिस्ट पार्टी के पोलित ब्यूरो के मेंबर यांग जिशे और विदेश मंत्री वांग यी भी मौजूद रहेंगे।

PunjabKesari

कश्मीर नहीं सुरक्षा, सीमा, आतंक पर होगी बात
जिनपिंग के भारत दौरे से पहले भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से एक बयान जारी किया गया जिसमें कहा गया कि यह एक ऐसा अवसर होगा जब दोनों नेता आतंकवाद से निपटने के तरीकों, व्यापार, द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के अत्यंत आवश्यक मुद्दों पर अपनी चर्चा को आगे बढ़ाएंगे। साथ ही सीमा पर शांति और सौहार्द बनाए रखने पर भी बातचीत की जाएगी। शिखर वार्ता चेन्नई के समीप प्राचीन तटीय शहर मामल्लापुरम में होगी। वहीं मोदी-शी शिखर वार्ता से जुड़े सूत्रों ने बताया कि शी के भारत दौरे में कश्मीर का मुद्दा उठाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के नजरिए से उन्हें अवगत कराएंगे। उन्होंने बताया कि कश्मीर पर भारत का रुख एकदम स्पष्ट है और अगर शी ने मुद्दा उठाया तो मोदी उन्हें हमारा पक्ष समझाएंगे। इस बीच, चीन के विदेश मंत्रालय ने बताया कि शी 13 अक्तूबर को नेपाल के राजकीय दौरे पर जाएंगे।

PunjabKesari

सुरक्षा के कड़े इंतजाम
तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों से आए पांच हजार से अधिक पुलिसकर्मियों की यहां तैनाती की गई है। उच्च सुरक्षा के मद्देनजर दो शीर्ष पुलिस अधिकारियों की तैनाती करने के साथ-साथ दर्जनों अस्थायी पुलिस चौकियां बनाई गई है। शहर में 800 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं जिसके जरिए सड़कों और अन्य रास्तों की 24 घंटे निगरानी की जा रही है। तैनाती के बारे में पूछने पर रक्षा अधिकारी ने कहा कि यह असामान्य नहीं है। हालांकि, उन्होंने विस्तृत जानकारी देने से इनकार कर दिया। तटीय शिव मंदिर के नजदीक तट पर अवरोधक लगाए गए हैं यह वह स्थान है जहां मोदी-जिनपिंग आएंगे।

PunjabKesari

स्थानीय मछुआरों को भी गुरुवार से समुद्र से दूर रहने को कहा गया है। सादे कपड़ों में पुलिस के जवान आसपास के इलाकों की निगरानी कर रहे हैं। विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) और बम निरोधक दस्ते के जवान भी स्मारक सहित विभिन्न इलाकों की निगरानी कर रहे हैं। दो दर्शन के करीब खोजी श्वान को तैनात किया गया है। जगह-जगह दोनों नेताओं की तस्वीर वाले बैनर लगाए गए हैं।


Seema Sharma

Related News