See More

कोरोना काल ने कर दिया बेड़ा पार, 32 बार फेल होने के बाद अब हो गया 10वीं में पास

2020-07-31T12:52:45.053

नेशनल डेस्क: महामारी कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को बदल कर रख दिया है। जहां लाखों लोग इस घातक वायरस से जूझ रहे हैं तो वहीं एक शख्स ऐसा भी है जिसकी इस महामारी ने जिंदगी ही बदल डाली। जिस चीज का वह सालों से सपना देख रहे थे वो चुटकी में पूरी हो गई। 

 

हम बात कर रहे हैं हैदराबाद के मोहम्मद नुरुद्दीन (51) जो 33 सालों से दसवीं की परीक्षा को पास करने की कोशिश कर रहे थे लेकिन हर बार वह असफल रह जाते थे। अब कोरोना काल में उनकी किस्मत पलट गई और आखिरकार वह दसवीं की परीक्षा में पास हो गए। दरअसल सरकार की तरफ से दसवीं के सभी छात्रों को पास कर दिया गया है, जिससे नूरुद्दीन का 33 साल पुरान सपना साकार हो गया। 


मोहम्मद नुरुद्दीन ने इस पर खुशी जताते हुए कहा कि मैं 1987 से 10वीं की परीक्षा लगातार दे रहा हूं। अंग्रेजी में कमजोर होने के कारण मैं हर साल फेल हो जाता था लेकिन इस बार मैं पास हो गया हूं क्योंकि इस कोविड-19 की वजह से सरकार ने छूट दे दी है। नूरुद्दीन को सरकारी नौकरी करनी थी, जिसके लिए दसवीं पास करना जरूरी है, इसीलिए वो हर साल परीक्षा देते रहे। 


vasudha

Related News