Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में किसकी सरकार से अब जंग पहुंच गई ''बाला साहेब'' किसके!

punjabkesari.in Saturday, Jun 25, 2022 - 05:44 PM (IST)

नेशनल डेस्क: शिव सेना कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के विद्रोहियों समेत हिंदुत्व के मुद्दे पर भी चर्चा हुयी और इसमें छह प्रस्ताव पारित किये गये। शिवसेना नेता संजय राउत ने संवाददताओं से कहा कि बैठक में छह प्रस्ताव पारित किए गये हैं। बैठक में तय किया गया है कि शिवसेना बालासाहब ठाकरे की हिंदुत्व की विचारधारा का पालन करेगी और संयुक्त महाराष्ट्र की विचारधारा से समझौता नहीं करेगी। पार्टी से गद्दारी करने वालों के खिलाफ सख्त कारर्वाई की जाए। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पास बागियों के खिलाफ कारर्वाई का अधिकार है। 

उन्होंने कहा,‘‘ जो चले गए हैं वे बालासाहब के नाम का इस्तेमाल नहीं कर सकते।  बाल ठाकरे के नाम का इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करायी जायेगी।'' मुख्यमंत्री एवं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा,‘‘ जिन नेताओं ने शिवसेना छोड़ दी है, वे शिवसेना और बालासाहेब ठाकरे के नाम पर वोट नहीं मांगें। अपने पिता के नाम पर वोट मांगे। महाविकास अघाड़ी एकजुट है। शाम तक पार्टी छोड़ने वालों के खिलाफ कारर्वाई के बारे में बताया जाएगा। '' राउत ने कहा,‘‘उद्धव ठाकरे ने जो काम किया है, वह काबिले तारीफ है। हम सब उनके नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे। '' 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News