See More

सऊदी से अरबों का कर्ज लेने वाले पाकिस्‍तान में ट्रेंड हो रहा बायकॉट UAE

2020-05-20T16:49:23.183

इस्‍लामाबादः पाकिस्‍तान में बुधवार की सुबह सोशल मीडिया यूजर्स के बीच एक ऐसा मुद्दा चर्चा का विषय बन गया जो अब मेन ट्रंडिंग में शामिल हो गया है। पाकिस्‍तान में #BoycottUAE टॉप पर ट्रेंड कर रहा है। इस ट्रेंड के पीछे की वजह बेहद दिलचस्‍प है। ट्विटर यूजर्स को अब यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) का बायकॉट करना है। कुछ पाकिस्‍तानी यूजर्स UAE से इसलिए खफा हैं कि उसने तुर्की की लीबिया में कार्रवाई की निंदा की है। तुर्की और UAE के रिश्‍ते हाल के दिनों में बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं। वहीं, पाकिस्‍तान के लिए लगातार तुर्की अपना सपोर्ट देता रहा है। इसलिए कई पाकिस्‍तानी तुर्की को अपना असली दोस्‍त बता रहे हैं।

PunjabKesari

UAE से गुस्से एक वजह ये भी है कि उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना सर्वोच्‍च सम्‍मान दिया था। कई यूजर्स इसे लेकर भी UAE के बायकॉट की मांग उठा रहे हैं। इस हैशटैग पर किए गए कुछ ट्वीट्स की भाषा ऐसी है जिसकी सभ्‍य समाज में कोई जगह नहीं है। ये सब शुरू हुआ अली केसकिन नाम के एक वेरिफाइड अकाउंट की अपील पर। उसने 19 मई को रात 9 बजे के लगभग ट्वीट किया, "UAE अब तुर्की का दुश्‍मन है। मैं अपने सभी मुस्लिम दोस्‍तों से UAE पर प्रतिबंध लगाने की अपील करता हूं।" इसके साथ उसने #BoycottUAE हैशटैग का यूज किया। अगले ट्वीट में उसने कहा कि 'UAE कश्‍मीर संकट पर चुप रह गया और भारत का समर्थन करता है।' इसके बाद इस हैशटैग के साथ दनादन ट्वीट्स होने लगे।

PunjabKesari

किसी ने UAE को तुर्की की वजह से लताड़ा तो कोई पीएम मोदी को बीच में ले गया। कश्‍मीर के बहाने भी UAE पर खूब वार किए जा रहे हैं। अदनान ने लिखा है कि 'UAE पाकिस्‍तानियों के साथ बेहद बुरा बर्ताव करता है और तुर्की में पाकिस्‍तान के लोगों की बड़ी इज्‍जत है। हम तुर्की से प्‍यार करते हैं।' कई लोगों ने साथ में तुर्की और पाकिस्‍तान का झंडा लगाकर UAE का बायकॉट करने की मांग उठाई।

PunjabKesari

कुछ लोग इस हैशटैग का विरोध भी कर रहे हैं। जैसे इब्राहिम काजी ने लिखा है कि 'पाकिस्‍तान और UAE के ऐतिहासिक रिश्‍ते हैं और यह हैशटैग हमारे हित में नहीं है। तुर्की और UAE के बीच बहुत सारे मतभेद हैं मगर उन्‍हें उन दोनों मुस्लिम देशों को बातचीत से सुलझाना चाहिए।' बता दें कि पाकिस्‍तान उन देशों में से है जिनको खाड़ी देश मदद भेजते हैं और सऊदी अरब सबसे अधिक मदद करता है। चीन, अमेरिका और इंटरनैशनल मॉनेटरी फंड (IMF) के आगे पाकिस्‍तान हाथ फैलाए रहता है।

PunjabKesari

UAE पर पाकिस्‍तान की निर्भरता कम नहीं है। UAE में करीब 15 लाख पाकिस्‍तानी रहते हैं यानी भारत के बाद UAE में सबसे ज्‍यादा प्रवासी पाकिस्‍तान से ही आते हैं। UAE लगातार पाकिस्‍तान को आर्थ‍िक मदद पहुंचाता रहा है। साल 2019 में पाकिस्‍तान को UAE से 3 बिलियन डॉलर की रकम मिली। वहीं 3.2 बिलियन डॉलर आगे देने पर सहमति बनी। कोरोना वायरस संकट के समय भी UAE ने आर्थिक और मेडिकल सहायता पाकिस्‍तान को उपलब्‍ध कराई। मगर यह हैशटैग चला रहे पाकिस्‍तानी यूजर्स शायद यह सब भूल गए हैं।

PunjabKesari


Tanuja

Related News