राजस्थान में द ग्रेट पॉलिटिकल ड्रामा 3 शुरू: गहलोत बोले- सचिन पायलट ने गद्दारी की, वो सीएम कैसे बन सकता है

punjabkesari.in Thursday, Nov 24, 2022 - 04:43 PM (IST)

नेशनल डेस्कः राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से पहले राजस्थान में फिर दो शीर्ष नेताओं की बगावत खुलकर सामने आ गई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है। गहलोत ने कहा, जिसके पास 10 विधायक नहीं वह सीएम कैसे बन सकता है। उन्होंने पूर्व डिप्टी सीएम को ‘गद्दार’ बताते हुए कहा कि अगर सचिन पायलट ने राजस्थान के विधायकों से माफी मांगी होती और उनका दिल जीत लिया होता तो बात कुछ और होती।

गहलोत ने कहा कि जिसके कारण हम 34 दिन होटलों में बैठे रहे, ये सरकार गिरा रहे थे, अमित शाह भी शामिल थे। धर्मेंद्र प्रधान भी शामिल थे। गहलोत कैंप के द्वारा पायलट को स्वीकार नहीं करने के सवाल पर गहलोत ने कहा- जो आदमी गद्दारी कर चुका है, उसे हमारे एमएलए और मैंने खुद भुगता है, 34 दिन तक होटलों में रहे हैं, उनको वे कैसे स्वीकार करेंगे?

विधायकों ने किया था दिल्ली भेजे जाने का विरोध
अशोक गहलोत को कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में दिल्ली भेजे जाने का 90 से अधिक विधायकों ने विरोध किया था। इस दौरान सोनिया गांधी के साथ हुई अपनी बातचीत का जिक्र करते हुए गहलोत ने कहा, "अब तक उन्होंने माफी नहीं मांगी है। अगर उन्होंने माफी मांगी होती, तो मुझे माफी नहीं मांगनी पड़ती।"

अशोक गहलोत ने बगावत पर कहा, "विधायक मुख्यमंत्री (मेरे) प्रति वफादार नहीं थे, वे हाईकमान के प्रति वफादार थे।" गहलोत ने कहा कि विधायक पायलट की 2020 की बगावत के कारण नाराज हैं। तब उन्होंने 19 विधायकों के साथ दिल्ली में डेरा डाल लिया था और पार्टी पर दबाव बनाया था।

पायलट ने की थी केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात
सचिन पायलट ने उस समय दिल्ली में दो वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात की थी। गहलोत ने इंटरव्यू में आरोप लगाया, अमित शाह और धर्मेंद्र प्रधान भी इसमें शामिल थे। सभी ने दिल्ली में एक बैठक की थी। उन्होंने अपने दावे का समर्थन किए बिना कहा, पायलट का समर्थन करने वाले विधायकों में से, "किसी को 5, कुछ को 10 करोड़ मिले। वास्तव में यह पैसा दिल्ली में भाजपा कार्यालय से उठाया गया था।

हालांकि सचिन पायलट ने अपने दोनों पद, उपमुख्यमंत्री और राजस्थान कांग्रेस प्रमुख, खो दिए। गहलोत ने कहा कि इस मामले में माफी मांगी जानी थी लेकिन वह कभी नहीं मांगी गई। दिग्गज कांग्रेस नेता ने कहा, ''आज विधायकों में काफी नाराजगी है। वे चाहते थे कि उन्हें कम से कम आलाकमान से माफी मांगनी चाहिए थी, उन्हें राजस्थान की जनता से माफी मांगनी चाहिए थी। उन्हें विधायकों से माफी मांगनी चाहिए थी कि 'मैंने जाकर गलती की।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News