विदेश मंत्री लावरोव का बड़ा बयान, भारत महत्वपूर्ण देश रूस और यूक्रेन के बीच कर सकता है मध्यस्थता

punjabkesari.in Friday, Apr 01, 2022 - 06:10 PM (IST)

नेशनल डेस्कः यूक्रेन और रूस के बीच जारी जंग के 37वें दिन रूस के विदेश मंत्री लावरोव ने शुक्रवार को भारत की तारीफ करते हुए कहा कि यूक्रेन से जंग के शुरुआत से भारत का रुख निष्पक्ष रहा है और भारत अमेरिका के दबाव में कभी नहीं आया। लावरोव ने कहा कि यूक्रेन और रूस के बीच भारत मध्यस्थता कर सकता है। उन्होंने कहा कि भारत एक महत्वपूर्ण देश है, भारत न्यासंगत दृष्टिकोण के साथ भूमिका निभा सकता है। लावरोव ने कहा कि रूस रक्षा क्षेत्र में भारत के साथ किसी भी सामान की आपूर्ति के लिए प्रतिबद्ध है। 

सर्गेई लावरोव ने कहा कि भारत और रूस सामरिक भागीदारी को विकसित करते रहे हैं और यह हमारी प्राथमिकता रही है। हम निश्‍चित तौर पर विश्‍व व्‍यवस्‍था में संतुलन बनाने में रुचि रखते हैं। हमने अपने द्विपक्षीय संदर्भ को और मजबूत किया है। हमारे राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को शुभकामनाएं भेजी हैं।

रूस के विदेश मंत्री ने कहा कि इन दिनों हमारे पश्चिमी देशों और उसके सहयोगी देशों के बीच चल रहे विवाद को हम कम करना चाहते हैं। हम हर हाल में चल रहे विवाद के इस अंतरराष्ट्रीय मुद्दे को यूक्रेन में संकट के रूप में कम करना चाहते हैं। हम इस तरफ सार्थक कदम उठा रहे हैं। हम कभी भी युद्ध नहीं चाहते। हमने इस विवाद के दौरान भारत के पक्ष की सराहना की है कि भारत इस स्थिति को पूरी तरह से समझ रहा है और इसके प्रभाव को भी देख रहा है। वह सबके लिए सोच रहा है ना कि केवल एकतरफा तरीके से।

लावरोव ने कहा कि कई क्षेत्रों में हमारे द्विपक्षीय संबंध लगातार बढ़ रहे हैं और मजबूत भी हो रहे हैं। हमारी बैठक कोरोना महामारी के अलावा एक कठिन अंतरराष्ट्रीय वातावरण में भी बेहद अहम रही है। उन्होंने भारत की सराहना करते हुए कहा कि भारत हमेशा कूटनीति के जरिए विवादों को सुलझाने के पक्ष में रहा है और यही बात बेहद अहम है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News