See More

सावधान! लाकडाउन के बीच सक्रिय ठग गिरोह , फेसबुक अकाउंट हैक कर बेच रहे गाडिय़ां

2020-04-21T12:15:14.043


कठुआ, (गुरप्रीत) : बैंक खातों से सीधे तौर पर ठगी के मामले तो अकसर सामने आते रहे हैें लेकिन अब लाकडाउन के बीच ठगी करने वाले गिरोह ने नया हथकंडा अपनाया है। पिछले कुछ दिनों से यहां फेसबुक अकाउंट को हैक कर उसी आई.डी. से जहां फेसबुक फ्रैंडस से पैसों की मांग की जा रही है। वहीं, अब सुरक्षाबलों के नाम से फर्जी अकांउट बनाकर या फिर बुलेट के माडल के नाम से फर्जी अकाउंट बनाकर लोगों को ठगने का प्रयास किया जा रहा है। फेसबुक पर यह गिरोह पूरी तरह से सक्रियता से काम कर रहा है। यही नहीं पेज पर दर्शाए गए नंबरों पर भी पूरे सलीके के साथ यह ठग बात कर रहे हैं और गाडिय़ों संबंधी जानकारियां दे रहे हैं। जोकि सुरक्षा की दृष्टि से भी खतरनाक है।

PunjabKesari

 

इन ठगों का एक ही मकसद है कि किसी न किसी तरह से काल करने वालों को जाल में फंसा कर उनसे पैसा ऐंठा जाए। हो सकता है कि यह इस तरह की ठगी में कामयाब भी हुए हों लेकिन आम वर्ग को इस तरह की ठगी के प्रति जागरूक होना होगा ताकि यह लोग अपने मंसूबों में कामयाब न हो पाएं। जाहिर सी बात है कि नई गाडिय़ां और बाइकों को आखिर इतने कम दामों में कोई क्यों बेचेगा? अगर बेचना ही है तो इस लाकडाउन के दौरान यह कैसे संभव हो पाएगा जबकि देश भर के विभिन्न राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों में आम आवाजाही पर हाइवे पर भी रोक है। इसी से अंदेशा जाता है कि यह सब ठगी के मकसद से किया जा रहा है। 

 


 सी.आई.एस.एफ. के नाम से चलाया जा रहा फर्जी फेसबुक पेज 
कठुआ : सी.आई.एस.एफ. डिर्पाटमेंट के नाम से भी फेसबुक पर एक पेज चलाया जा रहा है। हालांकि इस फोर्स का काम गाडिय़ों को बेचना नहीं है लेकिन इनके विभाग के नाम से पेज बनाकर उसे सक्रिय भी गत 16 अप्रैल से किया गया है। इस पेज पर जम्मू नंबर की एक स्विफट गाड़ी का फोटो पोस्ट किया गया है और गाड़ी की कीमत 1 लाख 65 हजार रुपये बताई गई है। पंजाब केसरी के संवाददाता ने जब ग्राहक बनकर पेज पर दर्शाए नंबरों पर संपर्क साधा तो गाड़ी बेचने की बात को बताए गए नंबर पर बात करने वाले ने कंफर्म किया। पूछने पर बताया गया कि इस समय गाड़ी दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर है और गाड़ी की होम डिलीवरी कर दी जाएगी। इससे पहले उन्हें खरीदने वाले का आधार कार्ड और एक फोटो व्हाट्सऐप करना होगा और ट्रांस्पोर्ट के चार्ज अलग से देने होंगे। दिल्ली से आखिर इस लाकडाउन के बीच किस तरह से गाड़ी की होम डिलीवरी की जा सकती है यह भी जांच एवं सोचने का विषय है। वहीं, इस संबंध में एक सी.आई.एस.एफ. के एक वरिष्ठ अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि उन्होंने भी फेसबुक पर ऐसा देखा है जबकि उनका विभाग इस तरह का कोई काम नहीं करता। लोगों को खुद जागरूक होना चाहिए। विभाग का इससे कोई लेना देना नहीं है। PunjabKesari


 सस्ते में बेची जा रही बुलेट मोटरसाइकिल 
कठुआ : फेसबुक पेज पर ही बुलेट एवं उसके माडल के नाम से अकाउंट आज ही से सक्रिय हुआ है। इस पेज पर चमचमाती बुलेट बाइक का फोटो डाला गया है  और कीमत करीब 75 हजार बताई गई है। फोटो में बुलेट बाइक का नंबर जम्मू का है। दिए गए फोन नंबरों पर जब संपर्क साधा गया तो बेचने वाले ने बताया कि वे सी.आर.पी.एफ. में है और मौजूदा समय में जोधपुर में है। इससे पहले वे जम्मू में था। बाइक उसके पास ही है और अब वे नई स्कार्पियो लेना चाहता है इसीलिए बुलेट बेच रहा है। इसके लिए खरीदने वाले को पहले अपना आई.डी. उसे भेजना होगा और ट्रांस्पोर्ट का चार्ज एडवांस में देना होगा। यही नहीं गाड़ी डिलीवरी पर पसंद न आए तो पैसा तक वापिस कर दिया जाएगा। वहीं, इस संबंध में कठुआ बुलेट बाइक एजैंसी के प्रबंधक अजीत शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि कंपनी इस तरीके से कोई सेल नहीं करती। उन्होंने भी फेसबुक पर देखा है जबकि यह फर्जी लग रहा है। लोग ऐसे ठगों से बचें। 


 फेसबुक अकाउंट हैक कर फ्रैंड लिस्ट में शामिल दोस्तों से मांगे जा रहे पैसे 
कठुआ : फेसबुक अकाउंट हैक करने वाले भी इस लाकडाउन में पूरी तरह से सक्रिय है। कठुआ शहर में भी इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं लेकिन कोई सामने आने को तैयार तक नहीं है। गत दिनों एक नामी व्यापारी के ही फेसबुक अकाउंट को भी हैक कर दिया गया। यही नहीं हैक करने के बाद पैसा भी उनकी फ्रेंड लिस्ट में शामिल एक अन्य दोस्त व्यापारी से मांगना शुरू कर दिया गया। हालांकि जिससे पैसा मांगा जा रहा था उन्हें कोई अचानक जरूरत का हवाला दिया जा रहा है जबकि पैसा गूगल पे पर मांगा जा रहा था जिससे उन्हें शक हुआ। उन्होंने फेसबुक अकाउंट वाले व्यापारी दोस्त से फोन पर पैसों की जरूरत का कारणा पूछा तो उन्होंने मना कर दिया। जिससे पता चल पाया कि यह कोई फ्राड हो रहा है। 
 

माजिद महबूब, डी.एस.पी. मुख्यालय

ऐसे मामले प्रकाश में आए भी हैं। फेसबुक अकाउंड को हैक कर पैसा मांगने का मामला भी संगीन है। जिसके साथ ऐसा होता है वो इसकी शिकायत पुलिस में करे। बहरहाल लोगों को खुद भी जागरूकता दिखानी होगी और किसी टेलीफोन काम पर अपनी महत्वपूर्ण जानकारियां किसी अंजान से शेयर करने से बचना होगा---। 
 


Monika Jamwal

Related News