शिक्षकों की हड़ताल से डीयू ठप, परीक्षाएं प्रभावित

2019-12-05T00:45:58.993

नई दिल्ली: तदर्थ शिक्षकों को नियमित किए जाने की मांग को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के हज़ारों शिक्षकों की बुधवार को जबरदस्त हड़ताल से डीयू पूरी तरह से ठप हो गया और शिक्षकों ने परीक्षाओं का बहिष्कार किया। हज़ारों की संख्या में तदर्थ एवं स्थाई शिक्षकों ने आज सुबह से ही कुलपति कार्यालय को चारों ओर से घेर लिया और करीब 12 घण्टे तक शिक्षक डटे रहे। देर रात तक शिक्षकों का धरना जारी रहा। इन शिक्षकों का आंदोलन इतना जबरदस्त था कि पुलिस उन्हें रोक नहीं पाई और हज़ारों शिक्षक कुलपति कार्यालय के अंदर घुस गए और जमकर नारेबाजी की। इन शिक्षकों ने कुलपति कार्यालय के भीतर उस सभागार को अपने कब्जे में ले लिया जहां कार्यकारी परिषद की बैठकें होती हैं।

पुलिस तमाशा देखती रही। दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजीव रे ने देर रात जारी एक बयान में कहा कि करीब आठ हज़ार शिक्षकों ने दिन भर कुलपति कार्यालय को घेरे रखा। दिल्ली विश्वविद्यालय के इतिहास में ऐसा आंदोलन नहीं हुआ था। जब तक 28 अगस्त के पत्र वापस नहीं होंगे हम शिक्षक नहीं हटेंगे। ये शिक्षक सुबह 11 बजे कुलपति कार्यालय के बाहर जमा हुए और धीरे-धीरे इतनी संख्या में शिक्षक जमा हो गए कि पुलिस उन्हें रोक नहीं पाई और कड़ी सुरक्षा के बाद शिक्षक अंदर आ गए। विश्वविद्यालय के सभी धड़ों के नेताओं आदित्य नारायण मिश्र, ए के भागी, राजेश झा और सुधांशु कुमार ने इस आंदोलन का समर्थन करते हुए तदर्थ शिक्षकों को नियमित करने की मांग की।


shukdev

Related News