कोरोना से बचाने के लिए दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक होंगे डिजिटल, ऐसे होगा काम

2020-06-22T11:22:10.53

नई दिल्ली/डेस्क। दिल्ली में कोरोना वायरस लगातार अपने पैर पसार रहा है। ऐसे में यहां सरकार इसके प्रभाव को कम करने की हर संभव कोशिश कर रही है। इसी क्रम में अब दिल्ली सरकार मोहल्ला क्लीनिक में बदलाव करने जा रही है। दिल्ली सरकार के आम आदमी मोहल्ला क्लीनिक मैं अब मरीज के रजिस्ट्रेशन से लेकर दवा देने तक का काम डिजिटल होगा।

इसके लिए एक मोहल्ला क्लीनिक में डॉक्टर, क्लीनिक असिस्टेंट और फार्मेसिस्ट को टैब खरीदने के लिए कहा गया है, जिसका पैसा उनको सरकार वापस कर देगी। इसका मकसद मोहल्ला क्लीनिक में मरीजों के इलाज के रिकॉर्ड में पारदर्शिता लाना और मरीज की बीमारी की हिस्ट्री की ठीक से जानकारी रखना है।

 

450 मोहल्ला क्लीनिक में होगा ये काम
हालांकि मरीज को रिकॉर्ड के लिए प्रिंटर से उसकी बीमारी और दवा की पर्ची निकाल कर भी दी जाएगी। एक अधिकारी ने बताया कि इस काम इस पर काम करने की तैयारी की जा रही है। इसे जल्द ही सभी 450 मोहल्ला क्लीनिक के काम में लाया जाएगा। इस योजना के तहत मोहल्ला क्लीनक में इलाज का पांरपरिक तरीका छोड़ कर नया तरीका अपनाया जाएगा। 

इसमें सबसे पहले क्लीनिक असिस्टेंट मरीज के आते ही उसका रिकॉर्ड लेकर यूनिक आईडी जनरेट कर देगा। यह जानकारी क्लीनिक एप्लीकेशन से तीनों के जुड़े होने से सीधे डॉक्टर के पास पहुंच जाएगी। डॉक्टर मरीज की बीमारी के लक्षण देखकर ही संबंधित दवा लिख देगा। साथ ही मरीज को रिकॉर्ड के दवा से संबंधित भी दिया जाएगा। 

 

दिल्ली में संक्रमितों का आंकड़ा 60 हजार के करीब
बता दें कि दिल्ली मेंस कोरोना संक्रमण का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। दिल्ली सरकार द्वारा रविवार को जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के अनुसार यहां पर बीते 24 घंटों में 3 हजार नए संक्रमण के केस मिले हैं। वहीं 63 लोगों की जान गई है। राजधानी में कुल संक्रमितों की संख्या 59,746 हो गई है। इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या कुल 2,175 हो गई। दिल्ली में कोरोना को मात देखर स्वस्थ होने वालों की संख्या 33,013 पहुंच गई है। वहीं इस वक्त सक्रिय मामलों की संख्या 24,558 है।


Edited By

Murari Sharan

Related News