भारत में कोविड-19 के XE वेरिएंट के पहले मामले की हुई पुष्टि, विशेषज्ञों ने कही ये बात

punjabkesari.in Tuesday, May 03, 2022 - 10:03 AM (IST)

 नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मामलों में लगातार उताव-चढ़ाव के बीच भारत में ओमीक्रोन के सब-वेरिएंट XE के पहले मामले की पुष्टि हुई है। भारतीय SARS-CoV2 जीनोमिक्स सीक्वेंसिंग कंसोर्टियम (INSACOG) की ओर से इसकी पुष्टि गई गई है। बता दें कि इससे पहले महाराष्ट्र और गुजरात में XE वेरिएंट के मामले मिलने की बात सामने आई थी लेकिन इनकी पुष्टि नहीं हो सकी थी।
 

वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि इस बात का सबूत नहीं है कि XE का असर अन्य ओमाइक्रोन सब-वेरिएंट से अलग है। नया सब-वेरिएंट ओमाइक्रोन के वर्तमान में प्रमुख BA.2 वेरिएंट की तुलना में केवल 10 प्रतिशत अधिक तेजी से फैलता है। भारत में कोरोना की तीसरी लहर के पीछे BA.2 वेरिएंट की भूमिका मानी जाती है।
 

 रिपोर्ट के मुताबिक XE सब-वेरिएंट ओमिक्रॉन के वर्तमान में प्रमुख BA.2 वेरिएंट की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक ट्रांसमिसिबल पाया गया है, ये भी भौगोलिक रूप से अलग-अलग क्षेत्रों से आए हैं। ऐसे में किसी क्लस्टर फॉर्मेशन जैसी बात अभी तक नहीं देखी गई है। बहरहाल, XE सब वेरिएंट का केस कहां से मिला है, इस पर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।  बता दें कि कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के सब-वेरिएंट XE में BA.1 के साथ-साथ BA.2 वेरिएंट में पाए जाने वाले म्यूटेशन हैं। इसके बारे में पहली बार ब्रिटेन में जनवरी में पता चला था। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anu Malhotra

Related News

Recommended News