कश्मीर, लद्दाख में ठण्ड का कहर जारी

11/23/2021 11:53:58 AM

श्रीनगर : केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में सोमवार की रात सर्वाधिक ठण्डी रही। यहां के तापमान में 1.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई जिससे केन्द्र शासित प्रदेश कश्मीर और लद्दाख में ठण्ड का कहर जारी रहा। यहां सामान्य जीवन अस्त-व्यस्त रहा। श्रीनगर का तापमान रविवार के शून्य से 1.3 डिग्री सेल्सियस से सोमवार को 0.3 डिग्री नीचे रहा।


        मौसम विभाग के अनुसार जम्मू-कश्मीर में नवंबर के अंत में मौसम ठण्डा और शुष्क रहने के आसार हैं। उत्तरी कश्मीर में गुुरुवार को हल्की बफर्बारी होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने कहा कि आने वाले दो हफ्तों तक मौसम में कोई बदलाव नहीं आयेगा। द्रास के वायु सेना स्टेशन पर रविवार को तापमान शून्य से 12 डिग्री कम दर्ज होने के बाद सोमवार को तापमान शून्य से 12.8 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। लेह में सोमवार को तापमान शून्य से 10.8 डिग्री सेल्सियस कम रहा जबकि रविवार को यह शून्य से 8.5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था।   

 

कारगिल में तापमान शून्य से 5.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। दक्षिण कश्मीर में पहलगाम का पर्यटक स्थल सबसे ठण्डा रहा,यहां का तापमान सोमवार को शून्य से 3.7 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया जबकि रविवार को यहां के तापमान में शून्य से 4.2 सेल्सियस कम रहा था। पहलगाम में तापमान में गिरावट के कारण यहां के छोटे-छोटे जलाशय जम गये। श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग के काजीगुंड पर तापमान शून्य से दो डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया जबकि रविवार को पहले यहां तापमान शून्य से 2.2 डिग्री सेल्सियस नीचे था। काजीगुंड जैसा मौसम कोकरनाग में भी रहा, यहां तापमान में 1.0 डिग्री सेल्सियस शून्य से नीचे रहा जबकि रविवार को तापमान शून्य से 1.3 डिग्री सेल्सियस कम था। 


उत्तरी कश्मीर में गुलमार्ग के प्रसिद्ध स्की रिसॉर्ट में रात के तापमान में शून्य से 0.8 की गिरावट देखी गई जबकि रविवार को तापमान शून्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस कम रहा था। रात के तापमान में कुछ सुधार रहा लेकिन कोहरे की अधिकता के कारण पर्यटकों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। मौसम विभाग ने कहा कि कश्मीर जिले के कुपवाडा में सोमवार को तापमान शून्य से 2.9 डिग्री सेल्सियस कम रहा। यहां रविवार को तापमान शून्य से 3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Related News

Recommended News