विमान को अनुमति ना मिलने से नाराज भारत, चीन बोला- जानबूझकर नहीं कर रहे देरी

2020-02-22T16:13:12.3

नेशनल डेस्क:  भारत ने चीन के उस तर्क को आज खारिज कर दिया कि भारतीय विमान की तीसरी उड़ान को वुहान जाने की अनुमति दिये जाने में कोई विलंब नहीं हुआ। सरकार के सूत्रों ने कहा कि वुहान के लिए राहत एवं चिकित्सा सामग्री ले जाने और वहां फंसे भारतीय यात्रियों को वापस लाने के वास्ते विमान को आने देने का अनुरोध 13 फरवरी को किया गया था। पन्द्रह फरवरी को फ्लाइट प्लान भी चीन सरकार को भेज दिया गया था। उड़ान की तिथि 20 फरवरी प्रस्तावित थी। इसके लिए पांच दिन का नोटिस दिया गया। इसलिए ऐसा प्रतीत होता है कि उड़ान की अनुमति देने में जानबूझ कर विलंब किया गया है।

PunjabKesari

सूत्रों ने कहा कि इस बीच वुहान से 16 फरवरी को जापान, 19 फरवरी को यूक्रेन तथा 20 फरवरी को फ्रांस के विमान को उड़ान भरने की अनुमति दी गयी। अगर इन विमानों को रोकने या विलंबित करने के लिए स्थिति जटिल नहीं थी तो फिर अचानक भारतीय विमान की उड़ान के लिए कैसे जटिल हो गयी। सूत्रों के अनुसार भारतीय नागरिक वुहान से लौटने के लिए प्रतीक्षारत हैं। अनिश्चितता से उन्हें अवसाद एवं मानसिक तनाव हो रहा है। चीन को चिकित्सा एवं राहत सामग्री वाले इस विमान को उड़ान भरने की अनुमति देनी चाहिए जिससे इसी विमान से भारतीय नागरिकों को स्वदेश लाया जा सके। 

PunjabKesari

इससे पहले सरकार के गलियारों में चीन के प्रति नाराजगी की खबरों के बाद भारत में चीन के दूतावास ने तत्काल प्रतिक्रिया व्यक्त की। चीनी दूतावास की प्रवक्ता काउंसलर जी रोंग ने कहा कि चीन अपने यहां रह रहे भारतीय नागरिकों की सेहत एवं सुरक्षा को सदैव ही बहुत महत्व देता है और उसने भारतीय नागरिकों की वापसी के लिए सहूलियत एवं सहायता प्रदान की है। चीनी प्रवक्ता ने कहा कि हूबे प्रांत में महामारी के कारण मौजूदा हालात बेहद जटिल हैं और कोरोना विषाणु की रोकथाम एवं नियंत्रण के प्रयास बेहद नाजुक स्थिति में पहुंच गये हैं। हम बहुत सावधानी पूर्वक ज़मीनी हालात का आकलन कर रहे हैं। दोनों देशों के सक्षम विभाग इस संबंध में संपकर् एवं समन्वय बनाये हुए हैं। ऐसा कुछ नहीं है कि चीन उड़ान की अनुमति नहीं दे रहा है। 

PunjabKesari

भारत ने इस बात पर रोष जताया था कि वुहान में कोरोना विषाणु की महामारी से निपटने के लिए चिकित्सा एवं राहत सामग्री वाले विमान को दो दिन के इंतजार के बाद भी चीन सरकार की ओर से वहां आने की अनुमति नहीं मिली है। सूत्रों ने कहा था कि राहत सामग्री वाले विमान से वुहान में फंसे भारतीयों को वापस लाना है और चीन सरकार जानबूझ कर विमान आने की अनुमति नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि चीन सरकार ने कहा था कि विमान को अविलंब अनुमति दी जायेगी। गुरुवार को विमान रवाना होना था लेकिन दो दिन के इंतजार के बाद भी अनुमति नहीं मिली है।


vasudha

Related News