सपा सांसद के बयान पर भाजपा ने साधा निशाना, कहा- बेटियों के लिए इनकी यही मानसिकता

punjabkesari.in Friday, Dec 17, 2021 - 08:45 PM (IST)

नेशनल डेस्कः सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के बेटियों पर दिए गए विवादित बयान को लेकर उत्तर प्रदेश की मंत्री स्वाति सिंह ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि एक बार फिर सपा की मानसिकता सामने आ गई है। ये वही लोग हैं, जो कहते हैं कि लड़के हैं, लड़कों से गलती हो जाती है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि बंदायूं रेप मामले पर अखिलेश कहते हैं कि दुनियाभर में रेप होते रहते हैं। इससे साबित होता है कि बेटियों को लेकर ये लोग कैसी सोच रखते हैं?

स्वाति सिंह ने कू पर एक वीडियो के जरिए साझा संदेश में कहा कि आज एक बार फिर सपा का चेहरा सामने आ गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की बेटियों को सशक्त करने की बात कर रहे हैं। आत्मनिर्भर बनाने की बात कर रहे हैं। सरकार ने यह सोचा कि हम ये निर्णय लें कि बेटियों की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 साल कर दी जाए तो सपा के एमपी का यह कहना कि अगर शादी की उम्र को बढ़ाया जाएगा तो लड़कियों में आवारगी बढ़ेगी। बेटियों और महिलाओं को लेकर यह सपा की मानसिकता है। उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब सपा ने इस तरह की मानसिकता दिखाई है।


स्वाति ने बताया कि 2014 में कहा था कि लड़के हैं, लड़कों से गलतियां हो जाती हैं। वहीं, जब बंदायूं में रेपकांड हुआ था तब अखिलेश यादव ने कहा था कि दुनियाभर में रेप होते रहते हैं। यह मानसिकता है इन लोगों की। आज पूरा देश देख रहा है कि सपा के लोग हमारी आधी आबादी के लिए बहनों-बेटियों के लिए क्या सोच रखते हैं।

बता दें कि समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। कैबिनेट द्वारा पारित लड़कियों शादी के लिए उम्र 18 की सीमा बढ़ाकर 21 साल करने के प्रस्ताव पर बेतुका बयान दिया है। उन्होंने कहा कि शादी की उम्र सीमा बढ़ाने से लड़कियां ज्यादा आवारगी करेंगी।

अखिलेश यादव ने दी सफाई
फिलहाल सपा प्रमुख ने इसे लेकर सफाई देते हुए कहा कि ऐसे बयानों से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी महिलाओं के सम्मान के साथ खड़ी है। बता दें कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को पुरुषों एवं महिलाओं के विवाह की न्यूनतम आयु में एकरूपता लाने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की। सरकार ने लड़कियों के विवाह की न्यूनतम कानूनी आयु को 18 साल से बढ़ाकर पुरुषों के बराबर 21 साल करने की मंजूरी दे दी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News