श्रीनगर के हर पांच में से दो निवासियों में कोविड-19 के खिलाफ एंटीबॉडीजः सीरो सर्वेक्षण

2020-10-29T20:50:33.147


श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर जिले की 40 फीसदी से ज्यादा आबादी में कोविड-19 के खिलाफ एंटीबॉडीज़ विकसित हुई हैं। सरकारी अस्पताल द्वारा किए गए इस अध्ययन पर जिला प्रशासन ने सवाल उठाएं हैं और कहा कि है कि इसका सैंपल आकार छोटा है। श्रीनगर के सरकारी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) की ओर से किए गए अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि शहर में जून में किए गए इसी तरह के अध्ययन की तुलना में सीरो-प्रसार में 3.8 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। नया सीरो-प्रसार अध्ययन संकेत देता है कि जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी की आबादी का एक बड़ा हिस्सा कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुका है। 

 

सीरो-सर्वेक्षण में व्यक्ति के रक्त सीरम की जांच की जाती है जिससे संक्रमण के खिलाफ शरीर में एंटीबॉडीज होने का पता चलता हैं। जीएमसी श्रीनगर में सामुदायिक चिकित्सा के प्रमुख डॉ मोहम्मद सलीम खान ने बताया, " हमने श्रीनगर जिले में सीरो-सर्वेक्षण किया था जिसमें पता चला है कि 2400 लोगों में से 40 फीसदी के संक्रमित होने की पुष्टि नहीं हुई, लेकिन उनमें एंटीबॉडीज विकसित हो गई हैं।" खान ने बताया कि श्रीनगर के 20 क्लस्टर से औचक तरीके से नमूने लिए गए थे। इसमें यह भी पता चला है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में एंटीबॉडीज अधिक हैं। उन्होंने कहा ,"यह प्रवृत्ति उत्साहजनक है लेकिन ऐसा नहीं है कि हम कहें कि निश्चित स्तर पर आबादी में एंटीबॉडीज़ विकसित होने पर कोविड-19 को हराया जा सकता है।" अधिकारियों ने कहा कि नमूने का आकार छोटा होने के चलते परिणामों की सावधानी से व्याख्या करनी चाहिए।

 

एक अधिकारी ने बताया कि सर्वेक्षण में 15 लाख की आबादी में से सिर्फ 2400 लोगों के नमूनों की जांच की गई। सटीक स्थिति का पता लगाने के लिए नमूने का आकार बढ़ा होना चाहिए था। अधिकारी ने बताया कि जब जांच करने की क्षमता करीब 60,000 थी तो श्रीनगर में संक्रमित होने की दर 18 प्रतिशत थी। उन्होंने बताया कि जब जांच करने की क्षमता को बढ़ाकर चार लाख कर दिया गया है तो श्रीनगर में संक्रमित मरीजों की दर सिर्फ 18000 है। अधिकारी ने कहा कि सर्वेक्षण के परिणाम गलत भी हो सकते हैं और इससे लोगों में आंत्मसंतोष आ सकता है।

 

श्रीनगर जम्मू-कश्मीर का सबसे बुरी तरह से प्रभावित जिला है। यहां करीब 19000 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 348 लोगों की मौत हो चुकी है।  जिले में 1651 मरीज अपना इलाज करा रहे हैं जबकि अन्य जिलों 19 में 5300 संक्रमित अपना इलाज करा रहे हैं।  खान ने बताया कि कश्मीर घाटी के शेष नौ जिलों में व्यापक सीरो सर्वेक्षण किया जा रहा है और हर जिले से 400 नमूने लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि उनका परिणाम दो हफ्तों में जारी किए जाने की उम्मीद है।

 

जम्मू-कश्मीर में कोविड-19 के करीब 85,000 मामले आए हैं और 1455 लोगों की मौत हुई है।


Monika Jamwal

Related News