कर्नाटक में 'हिजाब' विवाद के बीच नमाज पढ़ते नजर आए छात्र, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

punjabkesari.in Saturday, Feb 12, 2022 - 08:33 PM (IST)

नेशनल डेस्क: कर्नाटक में शैक्षणिक संस्थानों में 'हिजाब' को लेकर उठे विवाद के बीच सोशल मीडिया पर दो वीडियो सामने आए हैं जिनमें दक्षिण कन्नड़ और बागलकोट जिलों में कुछ छात्र सरकारी विद्यालयों में शुक्रवार के दिन कथित तौर पर 'नमाज' अदा करते दिखाई देते हैं। दक्षिण कन्नड़ जिले के सरकारी प्राथमिक स्कूल में कथित तौर पर नमाज अदा करने वाले छात्रों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विवाद हो गया। यह घटना चार फरवरी को हुई थी और लोगों ने इस पर आपत्ति जताई थी। शिकायत के बाद शुक्रवार को शिक्षा विभाग के अधिकारी स्कूल पहुंचे।

घटना पर तुरंत एक रिपोर्ट जमा करने का निर्देश
वहां के शिक्षकों ने कहा कि उन्होंने छात्रों को कक्षा में धार्मिक गतिविधियों में शामिल नहीं होने का आदेश दिया है। खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) सी लोकेश ने कहा कि विभाग ने अपने अधिकारियों से स्कूल का दौरा करने और घटना पर तुरंत एक रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया है। बाद में, लोकेश ने कहा कि आज स्कूल अधिकारियों, छात्रों और उनके अभिभावकों के बीच एक बैठक में इस मुद्दे को सुलझा लिया गया। बैठक में शामिल हुए बीईओ ने कहा कि माता-पिता ने वादा किया है कि उनके बच्चों द्वारा स्कूल परिसर के अंदर इस तरह की गतिविधियों को दोहराया नहीं जाएगा। दूसरी घटना में बागलकोट जिले के एक स्कूल में कम से कम छह छात्र नमाज अदा करते दिखाई दिए।

अभिभावकों ने जताई आपत्ति
इस पर कुछ अभिभावकों ने आपत्ति जताते हुए आरोप लगाया कि स्कूल के अधिकारियों ने इसे स्कूल परिसर में होने दिया। स्कूल प्रधानाचार्य ने इलकल में संवाददाताओं से कहा कि छात्रों को परिसर में कोई नमाज अदा नहीं करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा, "स्कूल में 232 छात्र हैं। दोपहर के भोजन के समय चार छात्रों, यानी छठी कक्षा की चार लड़कियों ने मेरी या किसी शिक्षक की जानकारी के बिना नमाज अदा की। इसलिए, आज हमने उनसे कहा कि वे नमाज (स्कूल में) अदा न करें और यदि आप चाहते हैं तो आप इसे घर पर करें।"

वीडियो वायरल होने के बाद यह विवाद की वजह बना
चौबीस जनवरी को कोलार के मुलबागल कस्बे के एक सरकारी स्कूल में कुछ छात्रों द्वारा की गई नमाज से इलाके में तनाव पैदा हो गया था। नमाज पढ़ने का वीडियो वायरल होने के बाद यह विवाद की वजह बन गया था। हिजाब विवाद फिलहाल कर्नाटक उच्च न्यायालय में है जिसने निर्णय होने तक शिक्षण संस्थानों में धार्मिक पोशाक पहनकर न आने को कहा है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News