भारत को घेरने की साजिश ! श्रीलंका में जासूसी जहाज के बाद अब पाकिस्तान में सैनिक भेजना चाहता है चीन

punjabkesari.in Wednesday, Aug 17, 2022 - 06:19 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः श्रीलंका में जासूसी जहाज के बाद चीन अब भारत को घेरने की नई साजिश को अंजाम देने में जुट गया है।  श्रीलंका पर दबाव बनाकर अपना जासूसी जहाज भेजने के बाद चीन अब पाकिस्तान में अपनी सेना भेजने की योजना बना रहा है। दरअसल चीन ने संघर्ष-ग्रस्त पाकिस्तान-अफगानिस्तान क्षेत्र में महत्वपूर्ण निवेश किया है। ड्रैगन ने इस क्षेत्र में अपनी बेहद महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) के तहत खूब पैसे झोंके हैं। लेकिन आए दिन यहां चीनी कामगारों पर हमले भी हुए हैं।  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीन  इस क्षेत्र में अपने हितों की रक्षा करने के लिए  विशेष रूप से बनाई गई चौकियों में अपने स्वयं के सैनिको को तैनात करना चाहता है।

 

दरअसल पाकिस्तान-अफगानिस्तान के रास्ते चीन मध्य एशिया में अपने प्रभाव का विस्तार करना चाहता है। ड्रैगन ने दोनों देशों में रणनीतिक रूप से खूब निवेश किया है। गौरतलब है कि चीन का उच्च तकनीक वाला रिसर्च जहाज ‘युआन वांग 5’ मंगलवार को रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उस हंबनटोटा बंदरगाह पर पहुंच गया जिसे बीजिंग ने श्रीलंकाई सरकार से पट्टे पर लिया है। चीन का यह जासूसी जहाज बैलेस्टिक मिसाइल एवं सेटेलाइट का पता लगाने में सक्षम है। चीन के जहाज के श्रीलंकाई बंदरगाह पहुंचने को लेकर भारत की टेंशन बढ़ गई है और यह चीन द्वारा संकेत है कि वह क्षेत्र में समुद्री प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है।

 

कोलंबो में श्रीलंकाई अधिकारियों ने बताया कि पोत युआन वांग-5 रणनीतिक रूप से अहम स्थान पर बंदरगाह पर करीब एक सप्ताह तक ठहरेगा। उधर, भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान  पहले से चीन के कर्ज के बोझ से दबा है। पाकिस्तान में चीन का निवेश 60 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक हो गया है। पाकिस्तान न केवल वित्तीय बल्कि सैन्य और राजनयिक समर्थन के लिए भी चीन पर निर्भर है।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन ने पाकिस्तान पर उन चौकियों के निर्माण की अनुमति देने का दबाव बनाना शुरू कर दिया है जहां वह अपने सैनिकों को तैनात करेगा। तालिबान शासित अफगानिस्तान अभी भी कई मामलों में चीन और पाकिस्तान दोनों की अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर पाया है। इस्लामाबाद में शीर्ष राजनयिक और सुरक्षा सूत्रों ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी अफगानिस्तान और पाकिस्तान में सैन्य चौकियों को स्थापित करने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News