सीमा पार 50 आतंकी लॉन्चिंग पैड फिर सक्रिय, घुसपैठ की फिराक में 300 आतंकवादी

2020-01-11T12:51:14.467

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से लगती पाकिस्तान की सीमा के पार घुसपैठ की फिराक में बैठे अफगानी आतंकवादियों का होना सुरक्षा बलों के लिए चिंता का सबब बना हुआ है। सुरक्षा तंत्र से जुड़े सूत्रों ने बताया कि सीमा पार 50 से 60 लॉन्चिंग पैड पर करीब 300 आतंकवादी हैं जो मौका मिलते ही घुसपैठ की फिराक में हैं। चिंता की बात यह है कि इनमें अपेक्षाकृत काफी संख्या में अफगानी आतंकवादी भी हैं। यह आतंकवादी पाकिस्तानियों की तुलना में बेहतर प्रशिक्षित और अच्छे लड़ाके माने जाते हैं।

PunjabKesari

अफगानी आतंकवादियों की निश्चित संख्या तो नहीं बताई लेकिन कहा कि इतने अफगानी सीमा पार पहले नहीं देखे गए। बफर्बारी के कारण अभी ये आतंकवादी घुसपैठ नहीं कर पा रहे हैं लेकिन मार्च अप्रैल में बफर् पिघलने के साथ ही ये मौका मिलते ही भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश करेंगे। इन आतंकवादियों का मुख्य निशाना सुरक्षा बल ही रहेंगे और ये जम्मू कश्मीर में अशांति फैलाने के साथ साथ लोगों को भड़काने और प्रशासन के खिलाफ लाने की कोशिश करेंगे।

PunjabKesari

सूत्रों ने साथ ही कहा कि इस बार किसी के लिए भी लोगों को भड़काना और भीड़ के रूप में अशांति फैलाने के लिए उनका इस्तेमाल करना आसान नहीं होगा। सूत्रों ने कहा कि इसके अलावा ड्रोन का इस्तेमाल भी सुरक्षा बलों के लिए सिर दर्द बन सकता है। इसके लिए सीमा पर तैनात सुरक्षा बलों को ड्रोन रोधी प्रौद्योगिकी से लैस किया जाना जरूरी है। हालाकि सुरक्षा बलों और सेना को आदेश है कि यदि कोई ड्रोन उनके हथियारों की मारक सीमा के दायरे में आए तो उसे तुरंत मार गिराया जाना चाहिए।

PunjabKesari

उन्होंने कहा कि जीपीएस और रेडियो फ्रीक्वेंसी आधारित ड्रोन के अलावा अब पहले से ही प्रोग्राम किए गए ड्रोन भी नए खतरे के रूप में उभर रहे हैं। ये ड्रोन उन्हें दी गई कमान के आधार पर काम करते हैं। 
 


Author

rajesh kumar

Related News