लोगों को काम पर रखने की मांग में मई में एक प्रतिशत का सुधार: रिपोर्ट

2021-06-15T19:26:52.627

मुंबई, 15 जून (भाषा) महामारी की दूसरी लहर और लॉकडाउन के बावजूद खुदरा, घरेलू इस्तेमाल वाले उपकरणों और दूरसंचार उद्योगों सहित कई क्षेत्रों में अवसरों के बढ़ने के चलते अप्रैल 2021 की तुलना में मई में नौकरियों के लिए नियुक्ति मांग में एक प्रतिशत का सुधार दर्ज किया गया।

एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी।

मॉनस्टर इंप्लॉयमेंट इंडेक्स के मुताबिक कोविड-19 की दूसरी लहर शुरू होने के साथ जहां अप्रैल 2021 में नौकरियों के विज्ञापन में कमी देखी गयी थी, मई में स्थिति सुधरती नजर आयी।

अप्रैल 2021 की तुलना में मई में एक प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी जबकि मई 2021 में मई 2020 की तुलना में चार प्रतिशत की वृद्धि हुई।
मॉनस्टर इंप्लॉयमेंट इंडेक्स, मॉनस्टर इंडिया कंपनी द्वारा मासिक आधार पर ऑनलाइन नौकरियों के विज्ञापन डाले जाने का एक व्यापक विश्लेषण है।

मॉनस्टर डॉट कॉम के सीईओ शेखर गरिसा ने कहा, "महामारी की दूसरी लहर के असर के बावजूद नियुक्ति में सुधार होते देखना आशाजनक है।"
उन्होंने कहा, "उद्योग और कामकाज ने अब मौजूदा स्थिति के हिसाब से ढलना सीख लिया है और इसलिए नियुक्ति की योजनाओं में कम बाधा आ रही है।"
रिपोर्ट के मुताबिक पांच प्रतिशत उद्योग नौकरियों के विज्ञापन देने के लिहाज से मासिक आधार पर सकारात्मक वृद्धि का संकेत दे रहे हैं। खुदरा (24 प्रतिशत), घरेलू इस्तेमाल के उपकरण (13 प्रतिशत) और दूरसंचार/इंटरनेट सेवा प्रदाता (10 प्रतिशत) उद्योगों में सबसे ज्यादा वृद्धि दर्ज की गयी।

अप्रैल 2021 की तुलना में मई में बेहतर प्रदर्शन करने वाले दूसरे उद्योगों में आईटी- हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, बैंकिंग/वित्तीय सेवा, बीमा, जैवप्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य सेवा और दवा सहित अन्य क्षेत्र शामिल हैं।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News