चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग का सेना को आदेश- 'हर पल युद्ध को रहो तैयार'

2021-01-06T14:58:39.927

बीजिंग: चीन में सशस्त्र बलों की शक्तियों का विस्तार करने वाले नए संशोधित कानून के इस साल से प्रभाव में आने के बीच राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने देश की सेना को आदेश दिया कि वे 'किसी भी सेकेंड' कार्रवाई को तैयार रहें। शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक  शी जिनपिंग ने कहा, ''पीपल्स लिब्रेशन आर्मी को हर पल युद्ध के लिए तैयार रहन चाहिए।'' उन्होंने यह भी कहा कि अग्रिम टकरावों का इस्तेमाल सैन्य क्षमता बढ़ाने के लिए होना चाहिए और प्रशिक्षण में टेक्नॉलजी का इस्तेमाल बढ़ाया जाए। सेंट्रल मिलिट्री कमीशन (CMC) के पहले ऑर्डर में शी जिनपिंग ने वास्तविक युद्ध परिस्थितियों में प्रशिक्षण से सेना की मजबूती और जीतने की क्षमता बढ़ाने पर जोर दिया। शी ने सेना से अपने युद्ध कौशल को और तराशने के लिए प्रशिक्षण को मजबूत करने एवं बिल्कुल चौकस रहने को कहा है।

 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय सैन्य आयोग (CMC) के साथ साथ सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) के प्रमुख शी (67) ने 2021 के लिए आयोग के पहले आदेश पर दस्तखत किए जिसमें पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) और पीपुल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स के प्रशिक्षण में प्राथमिकताओं को सूचीबद्ध किया गया है। सीएमसी 20 लाख सैन्यकर्मियों की सेना का हाईकमान है। इस नए आदेश में सशस्त्र बलों को नये युग में चीनी विशिष्टताओं के साथ शी जिनपिंग की समाजवाद की सोच को अपने मार्गदर्शन सिद्धांत के तौर पर लेने तथा सेना एवं सैन्य रणनीतियों की मजबूती के संदर्भ में शी के विचारों पर चलने का निर्देश दिया गया है।

 

चाईना डेली की खबर के अनुसार CCP सेना के प्रशिक्षण पर अपना मार्गदर्शन बढ़ाएगी तथा सेना से अपना युद्ध कौशल निखारने एवं अपने प्रशिक्षण तंत्र में सुधार जारी रखने पर ध्यान देने की भी अपील की गई है।  इससे पहले   ऐसा आदेश जनवरी, 2018 में जारी किया गया था जब शी ने उत्तरी चीन के एक शूटिंग रेंज में एक विशाल प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित किया था। साउथ चाइना मोर्निंग पेास्ट के अनुसार सैन्यबलों द्वारा सोमवार को साल का पहला सैन्य प्रशिक्षण एवं अभ्यास शुरू किए जाने के बीच शी ने कहा कि पीएलए को ‘किसी भी क्षण कार्रवाई’ के लिए तैयार रहना चाहिए। अखबार ने चीनी राष्ट्रपति के हवाले से कहा, ‘‘ (पीएलए) को प्रशिक्षण एवं युद्धक तंत्र में नये औजार, नयी ऊर्जाशक्ति को शामिल करना चाहिए।’’

 

शी 2012 के आखिरी में कमांडर इन चीफ बने थे और तब से उन्होंने सशस्त्र बलों के लिए लड़ाकू तैयारी प्रशिक्षण एवं संयुक्त अभियानों के महत्व पर बार-बार बल दिया है।  यह साल 2021 चौथा लगातार वर्ष है जब शी ने केंद्रीय सैन्य कमीशन की ओर से साल के पहले निर्देश के तौर पर सेना के लिए प्रशिक्षण आदेश जारी किया है। यह संशोधित राष्ट्रीय रक्षा कानून इस साल एक जनवरी से प्रभाव में आया है जिसमें घरेलू और विदेशों में राष्ट्रीय हितों की रक्षा के लिए सैन्य एवं असैन्य संसाधनों को लगाने के लिए शी की अगुवाई में सशस्त्र बलों की शक्ति का विस्तार किया गया है।

 


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News