BRICS BF में चीन ने रूस पर प्रतिबंधों का किया विरोध, अमेरिका-यूरोपीय संघ पर साधा निशाना

punjabkesari.in Thursday, Jun 23, 2022 - 11:02 AM (IST)

बीजिंग: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने यूक्रेन पर आक्रमण के चलते रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाए जाने पर अमेरिका और यूरोपीय संघ पर बुधवार को निशाना साधते हुए कहा कि जानबूझकर प्रतिबंध लगाने से दुनिया भर के लोगों को नुकसान होगा। जिनपिंग ने ब्रिक्स व्यापार मंच के उद्घाटन समारोह में अपने भाषण में कहा कि इतिहास ने दिखाया है कि आधिपत्य, समूह संबंधी राजनीति और गुटों के बीच टकराव का परिणाम शांति और स्थिरता नहीं, बल्कि युद्ध और संघर्ष के रूप में निकलता है।

 

शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने pfvग के हवाले से कहा कि यूक्रेन संकट ने फिर से मानवता के लिए खतरे की घंटी बजा दी है और यदि देश अपनी ताकत पर अंधविश्वास रखते हैं, सैन्य गठबंधनों का विस्तार करते हैं और दूसरों की कीमत पर अपनी सुरक्षा की तलाश करते हैं तो वे निश्चित रूप से सुरक्षा कठिनाइयों में समाप्त हो जाएंगे। चिनफिंग ने अपने भाषण में यूक्रेन पर आक्रमण चलते रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाने को लेकर अमेरिका और यूरोपीय संघ पर निशाना साधते हुए कहा कि जानबूझकर प्रतिबंध लगाने का कार्य दुनिया भर के लोगों के लिए आपदा लाएगा।

 

प्रतिबंधों को उल्टा प्रभाव डालने वाले और दोधारी तलवार बताते हुए चिनफिंग ने कहा कि जो लोग वैश्विक अर्थव्यवस्था का राजनीतिकरण करते हैं, उसका लाभ उठाते हैं और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय एवं मौद्रिक प्रणालियों में प्रभुत्व का लाभ उठाकर जानबूझकर प्रतिबंध लगाते हैं, वे अंततः दूसरों को और खुद को नुकसान पहुंचाएंगे तथा दुनिया भर के लोगों के लिए आपदाएं लाएंगे।

 

ब्रिक्स व्यापार मंच की बैठक बृहस्पतिवार को वीडियो लिंक के माध्यम से होने वाले ब्रिक्स देशों- ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के 14वें शिखर सम्मेलन से पहले आयोजित की गई। चीन इस साल ब्रिक्स का अध्यक्ष है। चीनी राष्ट्रपति की मेजबानी में होने वाले सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा के भाग लेने की उम्मीद है।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News