चीन और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच वार्ता में कुरैशी ने उठाया कश्मीर मुद्दा

2021-07-25T04:19:04.717

बीजिंगः चीन के विदेश मंत्री वांग यी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी ने दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों को और मजबूत करने का शनिवार को संकल्प लिया तथा पाकिस्तान में चीन के नौ इंजीनियरों की आतकंवादी हमले में मौत की घटना की संयुक्त जांच कराने तथा कश्मीर मुद्दा समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। 

वार्ता के अंत में जारी संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि दोनों पक्षों ने यह रेखांकित किया कि शांतिपूर्ण, स्थिर, सहयोगी एवं समृद्ध दक्षिण एशिया सभी देशों के साझा हित में है। कुरैशी के प्रतिनिधिमंडल में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद भी थे जिन्होंने चेंगदू में वांग के साथ हुई वार्ता में कश्मीर मुद्दा भी उठाया।

कुरैशी ने ट्वीट किया, ‘‘शांतिपूर्ण, स्थिर एवं समृद्ध दक्षिण एशिया के एक समान नजरिए को साझा किया और कश्मीर के प्रति चीन के दृढ़ समर्थन की सराहना की। यह दोहराया की विवाद का हल संयुक्त राष्ट्र के नियमों, सुरक्षा परिषद के संबंधित प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौतों के जरिए होना चाहिए जिसमें एकतरफा कार्रवाई का विरोध हो।’’

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय से जारी वक्तव्य में कहा गया, ‘‘चीनी पक्ष ने दोहराया कि कश्मीर मुद्दा भारत और पाकिस्तान के बीच इतिहास से विवादित चला आ रहा है और इसका संयुक्त राष्ट्र के नियमों, सुरक्षा परिषद के संबंधित प्रस्तावों और द्विपक्षीय समझौतों के जरिए शांतिपूर्ण एवं उचित ढंग से समाधान निकाला जाना चाहिए। चीन ऐसी किसी भी एकतरफा कार्रवाई का विरोध करता है जो स्थिति को जटिल बनाता हो।’’ उल्लेखनीय है कि भारत हमेशा कहता आया है कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Recommended News