पाकिस्तान पर बढ़ती महंगाई की मार, वित्त मंत्रालय की भविष्यवाणी-अभी और बिगड़ेंगे हालात

punjabkesari.in Sunday, May 01, 2022 - 06:31 PM (IST)

इस्लामाबादः पाकिस्तान में महंगाई से  हाहाकार मचा हुआ है। जनवरी से ही उच्‍च मुद्रास्फीति के कारण लोगों को अभी तक कोई राहत नहीं मिल पाई है। वहीं पेट्रोल और डीजल की कीमतों में रिकार्ड बढ़ोतरी के कारण महंगाई का एक नया दौर चल रहा है।‌ पाकिस्तान में अप्रत्याशित कार्यकाल की आंतरिक और बाहरी चुनौतियों के संयोजन के कारण, वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को आने वाले कठिन दिनों की भविष्यवाणी की, जिसमें बढ़ती मुद्रास्फीति, चालू खाता घाटे का विस्तार, उच्च राजकोषीय घाटा जैसी जटिल समस्याएं शामिल है।

 

 डान की रिपोर्ट के मुताबिक वित्त मंत्रालय ने  भविष्यवाणी की कि आने वाले दिनों में देश के हालात अभी और बिगड़ने के आसार हैं।  रिपोर्ट  के अनुसार उच्च अंतरराष्ट्रीय वस्तुओं की कीमतें न केवल मुद्रास्फीति को बढ़ाती हैं, बल्कि वे पाकिस्तान के बाहरी खाते पर भी बोझ डाल रही हैं और इसलिए उसके विदेशी मुद्रा भंडार पर भी गहरा असर पड़ा हैं। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, वैश्विक तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते पाकिस्तान के लिए आयात बिल का भुगतान करना मुश्किल होगा।

 

सामान्य परिस्थितियों में, कीमतों में बढ़ोतरी के बाद कूलिंग-आफ अवधि होती है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय खाद्य और तेल की कीमतों के मौजूदा चक्र अलग हैं क्योंकि भू-राजनीतिक तनाव के कारण ऐतिहासिक मानकों की तुलना में बाजारों में अस्थिरता अधिक है, जो देश को झकझोर रहा है।‌ आने वाले महीनों में राजकोषीय घाटा और बढ़ने की उम्मीद है। इस साल अप्रैल और आने वाले महीनों के लिए, वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात में वृद्धि की प्रवृत्ति जारी रहने की उम्मीद है। इसके साथ ही घरेलू आर्थिक गतिविधियों और अंतरराष्ट्रीय कमोडिटी कीमतों के अनुरूप आयात समान स्तर पर रह सकता है। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News