See More

कोरोना वैक्सीन के लिए 'Novavax' को 12 हजार करोड़ रुपए देगा US

2020-07-07T21:59:17.797

वॉशिंगटनः अमेरिका सरकार ने कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने, इसके ट्रायल व ब्रिकी के अलावा जनवरी 2021 तक 100 मिलियन खुराक तैयार करने के लिए नोवाक्स (Novavax) कंपनी को 1.6 बिलियन डॉलर ( लगभाग 12 हजार करोड़ रुपए) देने का ऐलान किया है। अमेरिका के इस ऐेलान  के बाद Novavax के शेयरों में 35% से अधिक का उछाल आ गया है। व्हाइट हाऊस द्वारा आप्रेशन रेप स्पीड के तहत महामारी के उपचार को लेकर दी गई यह अब तक की सबसे बड़ी राशि है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोविड-19 के वैक्सीन के विकास के लिए मई के मध्य में ऑपरेशन रैप स्पीड लॉन्च करते हुए कहा था कि  'टीके के लिए अमेरिका भारत के साथ काम कर रहा है और इसका विकास इस साल 2020 के अंत तक कर लिया जाएगा।'

PunjabKesari

रायटर्स के अनुसार Novavax के मुख्य कार्यकारी स्टेनली एर्क ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि वैक्सीन का उत्पादन साल के अंत में शुरू कर दिया जाएगा, और अगले साल जनवरी या फरवरी तक इसका आर्डर पूरा किया जा सकता है।" उन्होंने कहा कि इस भुगतान में वैक्सीन ट्रायल के एक बड़े चरण की लागत को भी कवर किया जाएगा और वैक्सीन के इंसानी ट्रायल का अंतिम चरण अक्टूबर में शुरू होने की संभावना है । इससे पहले कोरोना वैक्सीन के निर्माण को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया था कि अमेरिका में इस वैक्सीन के 2 मिलियन से भी ज्यादा डोज तैयार हैं।

PunjabKesari

क्या है ऑपरेशन रैप स्पीड ?
दरअसल दुनिया के कई देश कोरोना वैक्सीन बनाने के लिए तेजी से काम कर रहे है। इन देशों में ब्रिटेन, जर्मनी, चीन, थाईलेंड आदि के नाम शामिल हैं लेकिन ट्रंप ने ऑपरेशन रैप स्पीड लांच करते हुए कहा था कि वह दुनिया में सबसे पहले कोरोना वैक्सीन को बनाने मे सफल होंगे। इस प्रोजेक्ट पर तेजी से काम के लिए ही ट्रंप ने ऑपरेशन रैप स्पीड शुरू किया और कहा कि  भारत और अमेरिका साथ मिलकर कोरोना वायरस का टीका विकसित करने में जुटे हुए हैं। जैसे ही सुरक्षा जांच में वेक्सीन के ट्रायल सफल हो जाते हैं इन्हें ट्रांसपोटेशन शुरू कर दिया जाएगा।

PunjabKesari

ट्रंप ने कहा था कि हमने कोरोना वायरस वैक्सीन पर हम अविश्वसनीय रूप से अच्छा कर रहे हैं। हमें कुछ बहुत ही सकारात्मक आश्चर्य देखने को मिल सकते हैं। वैक्सीन को लेकर बहुत प्रगति हो रही है। उन्होंने दावा किया है कि अगर ये वैक्सीन सुरक्षा जांच को पूरा कर लेते हैं तो हमारे पास दो मिलियन से ज्यादा डोज तैयार हैं।वास्तव में, हम इसके परिवहन और लॉजिस्टिक के लिए तैयार हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस के कारण दुनिया के 186 देश प्रभावित हैं। कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर हम पूरी दुनिया के साथ काम कर रहे हैं। हम चीन के साथ भी काम कर रहे हैं, लेकिन जो हुआ, वह नहीं होना चाहिए था।


Tanuja

Related News