US के प्रतिबंधों से भड़का चीन, अमेरिकी मिसाइल प्रतिबंधों को बताया पाखंड

punjabkesari.in Saturday, Jan 22, 2022 - 10:53 AM (IST)

बीजिंगः अमेरिका द्वारा 44 चीनी  विमानन  कंपनियों पर प्रतिबंध लगाने पर चीन तिलमिला उठा है ।  अमेरिका के इस एक्शन की आलोचना करते हुए  चीन ने कहा कि  अमेरिका ने कथित तौर पर मिसाइल प्रौद्योगिकी का निर्यात करने वाली चीनी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया था जिसे लेकर चीन ने परमाणु-सक्षम क्रूज मिसाइलों को बेचने के लिए अमेरिका पर पाखंड का आरोप लगाया है।

 

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजान ने कहा, “यह एक विशिष्ट आधिपत्य की कार्रवाई है। चीन इसकी कड़ी निंदा करता है और इसका कड़ा विरोध करता है।” उन्होंने कहा, “चीन अमेरिका से अपनी गलतियों को तुरंत सुधारने, संबंधित प्रतिबंधों को रद्द करने और चीनी उद्यमों को दबाने और चीन को कलंकित करने की कोशिश कर रहा है।”

 

बता दें कि  अमेरिका ने तीन कंपनियों पर दंड की घोषणा करते कहा कि वे अनिर्दिष्ट “मिसाइल प्रौद्योगिकी प्रसार गतिविधियों” में शामिल थीं। उसने कहा कि उन्हें अमेरिकी बाजारों से और ऐसी तकनीक प्राप्त करने से रोक दिया गया है जिसका इस्तेमाल हथियार बनाने के लिए किया जा सकता है। ‘स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट' के मुताबिक, 2016-20 में वैश्विक हथियारों के निर्यात में चीन की हिस्सेदारी करीब पांच फीसदी है जबकि अमेरिका शीर्ष वैश्विक निर्यातक था, जिसका 2016-20 में कुल 37 प्रतिशत हिस्सा था। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News