युवाओं को योग से दूर रखा गया: श्री श्री रवि शंकर

punjabkesari.in Wednesday, Apr 06, 2022 - 09:16 AM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

नई दिल्ली : आजादी के 75 वें वर्षगांठ पर सम्पूर्ण भारत में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। इसी कड़ी में इंडिया सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च एंड डेवलपमेंट (आईसीपीआरडी) ने दिल्ली स्थित डॉ. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में एक सेमिनार का आयोजन किया, जिसमें मुख्य अतिथि आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर ने कहा कि देश में सेकुलरिज्म के नाम पर युवाओं को योग से दूर रखा गया। 

उन्होंने कहा कि ऊं नम: शिवाय मंत्र कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश को जोड़ता है यही भारत की ताकत है। महामारी ने हमें मानसिक शांति का पाठ पढ़ाया है। इसीलिए सभी को खुद को स्वस्थ रखना चाहिए क्योंकि मानसिक स्वास्थ्य सबसे बड़ी चुनौती है। श्री श्री ने कहा कि आपके मन की स्थिति पूरी तरह से आपकी खुशी पर निर्भर करती है, मन को सभी विचारों से मुक्त करें और स्वतंत्रता दें। इस सेमिनार में पूर्व केंद्रीय मंत्री कर्ण सिंह, सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी और आरएसएस दिल्ली प्रदेश प्रचारक श्याम जाजू ने भी संबोधित किया। सेमिनार में आईसीपीआरडी के संस्थापक व अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह ने कहा कि 75 साल में देश ने सामाजिक-सांस्कृ तिक, राजनीतिक और आर्थिक विकास के सफर को तय किया है उसका जश्न मनाया जा रहा है। यह कार्यक्रम उन लोगों के बलिदान को पहचानने के लिए मनाया जा रहा है, जिन्होंने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी लेकिन उन्हें याद नहीं किया गया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Niyati Bhandari

Related News

Recommended News