Dharmik Katha: देवी वैष्णवी की कथा को देखने सुनने वाले आज भी हो जाते हैं मंत्रमुग्ध

punjabkesari.in Tuesday, Oct 12, 2021 - 12:39 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
कटड़ा (अमित):  कटड़ा के अध्यात्मिक केंद्र में श्राइन बोर्ड प्रशासन सहित पर्यटन विभाग के सौजन्य से आयोजित हो रही माता रानी की कहानी में नटरंग के कलाकारों द्वारा श्री राम जी के बनवास के समय तपस्या कर रही मां वैष्णवी से मिलने के दृश्य को दर्शाया गया। 

इस मंचन में दर्शाया गया कि जब वैष्णवी ने श्री राम से उन्हें पत्नी रूप में स्वीकार करने का अनुरोध किया तो श्री राम द्वारा वैष्णो मां से कहा कि वह उत्तर भारत में स्थित त्रिकुटा पर्वत पर कुछ काल तक तप करें और जगत का कल्याण करो। कलयुग में जब वह कल्की अवतार लेंगे तब तुम मेरी सहजनी बनोगी। उन्होंने मंचन के माध्यम से यह भी बताया कि जब तक मां वैष्णो देवी गुफा में विराजमान रहेंगी, तब तक वीर हनुमान द्वारा प्रवेश द्वारा पर पहरा देंगे। वहीं इस मंचन के दौरान भैरो बाबा व शिष्यों के बीच हुए वार्तालाप के दृश्य का भी मंचन कलाकारों द्वारा किया गया।

नटरंग द्वारा सोमवार को आयोजित माता रानी की कहानी के मंचन के दौरान निदेशक पर्यटन विभाग विवेकानंद राय मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। जिनके द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करते हुए इस मंचन की शुरूआत की गई। वहीं इस दौरान उपनिदेशक पर्यटन विभाग कटड़ा अंबिका बाली विशेष मेहमान के रूप में उपस्थित रहीं।

अमित शर्मा
poloelex77@gmail.com


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News