See More

घर बैठे बैठे पानी है धन-धौलत तो आज रात करें ये खास काम

2020-05-22T16:40:40.357

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
अपनी वेबसाइट के माध्यम से हम आपको शनि अमावस्या से जुड़ी जानकारी देते जा रहे हैं। इस कड़ी में हमने आपको शनि देव से जुड़े उपाय बताए, मंत्र आदि बताए हैं। अब हम आपको बताएंगे कि शनि अमावस्या के दिन लक्ष्मी मां को कैसे प्रसन्न किया जा सकता है। जी हां, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अमावस्या तिथि के दिन देवी लक्षमी से जुड़े खास उपाय किए जाते हैं ताकि इनकी कृपा से धन-धान्य में किसी भी प्रकार की कमी न हो।
Shani Amavasya 2020, Shani Amavasya, Shani Jayanti 2020, Shani Dev, Lord Shani Dev, Amavasya 2020, Devi Lakshmi, Devi lakshmi Stuti, Mantra Bhajan Aarti, Vedic mantra in hindi
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस तिथि के दिन देवी लक्ष्मी को भी प्रसन्न करने के लिए काफी उपाय किए जाते हैं। मगर हम आपको इन्हें प्रसन्न करवाने का सबसे आसान तरीका उपाय बताएंगे जिसे करने के लिए अधिक मेहनत भी नहीं करनी पड़ेगी।

चूंकि आज शुक्रवार के दिन शनि जयंती अमावस्या तिथि पड़ी है ऐसे में आज रात माता महालक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा-अर्चन करने के बाद इनकी निम्न स्तुति "श्रीलक्ष्मीस्तव" का श्रद्धापूर्वक पाठ करने से  देवी लक्ष्मी सभी मनोकामनाओं को पूरा करती हैं।

।। अथ श्रीलक्ष्मीस्तव ।।
1- नमस्तेस्तु महामाये श्रीपीठे सुरपूजिते।
शङ्खचक्रगदाहस्ते महालक्ष्मि नमोस्तुते॥

2- नमस्ते गरुडारूढे कोलासुरभयङ्करि।
सर्वपापहरे देवि महालक्ष्मि नमोस्तुते॥

3- सर्वज्ञे सर्ववरदे सर्वदुष्टभयङ्करि।
सर्वदुःखहरे देवि महालक्ष्मि नमोस्तुते॥

4- सिद्धिबुद्धिप्रदे देवि भुक्तिमुक्तिप्रदायिनि।
मंत्रपूते सदा देवि महालक्ष्मि नमोस्तुते॥
PunjabKesari, Shani Amavasya 2020, Shani Amavasya, Shani Jayanti 2020, Shani Dev, Lord Shani Dev, Amavasya 2020, Devi Lakshmi, Devi lakshmi Stuti, Mantra Bhajan Aarti, Vedic mantra in hindi
5- आद्यन्तरहिते देवि आद्यशक्तिमहेश्वरि।
योगजे योगसम्भूते महालक्ष्मि नमोस्तुते॥

6- स्थूलसूक्ष्ममहारौद्रे महाशक्तिमहोदरे।
महापापहरे देवि महालक्ष्मि नमोस्तुते॥
7- पद्मासनस्थिते देवि परब्रह्मस्वरूपिणि।
परमेशि जगन्मातर्महालक्ष्मि नमोस्तुते॥

8- श्वेताम्बरधरे देवि नानालङ्कारभूषिते।
जगत्स्थिते जगन्मातर्महालक्ष्मि नमोस्तुते॥

9- महालक्ष्म्यष्टकं स्तोत्रं यः पठेद्भक्तिमान्नरः।
सर्वसिद्धिमवाप्नोति राज्यं प्राप्नोति सर्वदा॥

10- एककाले पठेन्नित्यं महापापविनाशनम्।
द्विकालं यः पठेन्नित्यं धनधान्यसमन्वितः॥

11- त्रिकालं यः पठेन्नित्यं महाशत्रुविनाशनम्।
महालक्ष्मिर्भवेन्नित्यं प्रसन्ना वरदा शुभा॥
PunjabKesari, Shani Amavasya 2020, Shani Amavasya, Shani Jayanti 2020, Shani Dev, Lord Shani Dev, Amavasya 2020, Devi Lakshmi, Devi lakshmi Stuti, Mantra Bhajan Aarti, Vedic mantra in hindi
 

 


Jyoti

Related News